Move to Jagran APP

भाजपा की महिला विधायक देश के‍ लिए करेंगी फायरिंग, सेलेक्शन ट्रायल में मिला प्रथम स्‍थान

भारत के लिए एक बार फिर निशाना साधेंगी जमुई विधानसभा की भाजपा विधायक श्रेयसी सिंह। विश्व कप के लिए निशानेबाजी दल में उनका चयन हुआ है। 343 अंकों के साथ सेलेक्शन ट्रायल में उन्‍होंने प्रथम स्थान प्राप्‍त किया।

By Dilip Kumar ShuklaEdited By: Tue, 15 Feb 2022 08:09 PM (IST)
भागलपुर में एक शूटिंग करतीं जमुई की भाजपा विधायक श्रेयसी सिंह। पाइल फोटो

संवाद सहयोगी, जमुई। बिहार के जमुई विधानसभा क्षेत्र से भाजपा विधायक श्रेयसी सिंह एक बार फिर विदेशों में देश के लिए निशाना साधेंगी। अंतरराष्ट्रीय स्तर की निशानेबाज श्रेयसी सिंह ने अगले तीन विश्वकप के लिए भारत से चयनित निशानेबाजी दल में अपनी जगह पक्की कर ली है। श्रेयसी ने 12 से 15 फरवरी तक हुए एनआरएआई के सेलेक्शन ट्रायल में 343 अंकों के साथ प्रथम स्थान हासिल किया था। उन्‍होंने एक बार फिर अपनी लगन और प्रतिभा का लोहा मनवाया है।

अब श्रेयसी सिंह की आईएसएसएफ के आगामी तीन विश्व कप के लिए भारतीय राष्ट्रीय निशानेबाजी दल में जगह पक्की हो गई है। ज्ञातव्य है कि निशानेबाजी के अगले तीन विश्व कप क्रमश: साइप्रस, पेरू और इटली में खेले जाएंगे। यहां बता दें कि इसके पहले भी श्रेयसी देश के लिए निशानेबाजी में गोल्ड पर निशाना लगा चुकी है।

उनके चयनित होने पर भारतीय जनता पार्टी के स्थानीय नेताओं ने खुशी का इजहार करते हुए कहा है कि जमुई का प्रतिनिधित्व एक ऐसे व्यक्ति के हाथों में गया है जो सिर्फ जमुई और बिहार ही नहीं बल्कि देश और दुनिया में अपने क्षेत्र का नाम रोशन कर रही है। इनके चयन पर बिहार के खेलप्रे‍मियों और भाजपा नेताओं ने बधाई दी है। 

श्रेयसी सिंह का परिचय 

श्रेयसी सिंह का जन्‍म 29 अगस्त 1991 को हुआ है। वे भारतीय जनता पार्टी नेत्री हैं। बिहार के जमुई विधानसभा से विधायक हैं। वे पहली बार यहां से चुनाव लड़ीं और जीतीं। उनके माता और पिता क्रमश: पुतुल कुमारी और दिग्विजय सिंह हें। दिग्विजय सिंह का निधन हो गया है। दिग्विजय सिंह केंद्र मंंत्री के साथ-साथ लोकसभा सांसद थे। उनकी मां पुतुल कुमारी बांका लोकसभा के सांसद रह चुकीं हैं। उनकी बड़ी बहन मानसी सिंह है। उन्‍हें 2018 राष्ट्रमंडल खेलों में स्वर्ण पदक मिला है।  शूटिंग महिला डबल ट्रैप में उन्‍हें यह उपलब्धि मली। शूटिंग के लिए भारत सरकार ने इन्‍हें अर्जुन पुरस्कार से सम्‍मानित किया है।