संवाद सूत्र, सुल्तानगंज (भागलपुर)। बिहार के कुशेश्वरस्थान और तारापुर में हो रहे उपचुनाव में जदयू समर्पित एनडीए उम्मीदवार भारी मतों से जीत दर्ज करने जा रहे हैं। यह उपचुनाव बिहार में विकास बनाम विनाश की लड़ाई है। लालू प्रसाद यादव महागठबंधन तो क्या अपने परिवार को नहीं बचा पाए। उपचुनाव में तेज और तेजस्वी के अलग-अलग बोल हैं, जिससे जनता में ऊहापोह की स्थिति है। दोनों सीटें जदयू की परंपरागत सीट रही हैं। जदयू फिर से इस सीट पर काबिज होगा। पूरे मजबूती के साथ हमारी पार्टी दोनों जगहों पर चुनाव लड़ रही है। जन सेवक नीतीश कुमार और उनके द्वारा किए गए विकास के मुद्दे पर हम लोग जनता से वोट करने की अपील कर रहे हैं। लड़ाई कहीं भी नहीं है। जनता सुशासन की सरकार चाहती है। उक्त बातें जेडीयू के प्रदेश अध्यक्ष उमेश कुशवाहा ने सुल्तानगंज में विशेष बातचीत में कही।

उन्होंने कहा कि महागठबंधन में नेताओं की कमी है। बिहार को विकास के पथ पर ले जाने के लिए उनके पास विजन ही नहीं है। गठबंधन के सहयोगी दल के अलग-अलग राग हैं, जिससे जनता परेशान हो चुकी है। उन्होंने कहा कि किसी भी सीट पर कांटे की कोई टक्कर नहीं है। नीतीश कुमार के नेतृत्व में एनडीए सरकार तेजी से बिहार को विकास के पथ पर अग्रसर कर रही है। सात निश्चय योजनाओं का लाभ जनता को मिल रहा है। हर क्षेत्र में विकास हो रहा है कहीं से भी पटना मुख्यालय पहुंचने के लिए जो 5 घंटे का समय निर्धारित किया था उस पर काम हो चुका है। बिजली पानी 24 घंटे उपलब्ध हो रही है।

विकास योजनाओं को बल दिया जा रहा है। केंद्र सरकार की मदद से बिहार विकास के नए आयाम को छू रहा है। इस दौरान जेडीयू के प्रदेश संगठन महामंत्री अंजनी कुमार सिंह, अति पिछड़ा प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष प्रवीण चंद्रवंशी, पूर्व जिला अध्यक्ष डा. विजय स‍िंंह, जिला महासचिव विनय स‍िंंह, सांसद प्रतिनिधि पवन केसान समेत काफी संख्या में जदयू कार्यकर्ता मौजूद रहे। प्रदेश अध्यक्ष उमेश कुशवाहा में देर रात तक बंद कमरे में जदयू नेताओं और कार्यकर्ताओं के साथ तारापुर विधानसभा उपचुनाव पर रणनीति बनाई और जनता का मंतव्य लिया देर रात तक बंद कमरे में बैठक चलती रही।

Edited By: Dilip Kumar Shukla