कटिहार [नीरज कुमार]। जिले में 276 किमी लंबे तटबंध की निगरानी के लिए इस बार होमगार्ड जवानों की तैनाती नहीं की जाएगी। मुख्यालय स्तर से स्थानीय लोगों को प्राथमिकता देते हुए तटबंध की स्थिति पर नजर रखने के लिए तैनात किए जाने का निर्देश दिया गया है। बांध व तटबंध पर तैनात होने वाले स्थानीय श्रमिकों को प्रतिदिन के हिसाब से न्यूनतम मजदूरी का भुगतान किया जाएगा। स्थानीय निवासी होने के कारण भौगोलिक स्थ्ज्ञिति से वाकिफ होने के करण तटबंधों की देखरेख गंभीरता से होने के उद्देश्य से यह निर्णय लिया गया है। विभागीय जानकारी के मुताबिक तटबंध पर स्थानीय लोगों को तैनात किए जाने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई। इस माह के अंत तक प्रतिनियुक्ति कर दी जाएगी। इसके अतिरिक्त विभागीय अभियंताओं की टीम का भी गठन किया गया है। तटबंधों के संवेदनशील स्थानों, रेनकट एवं रेट होल को चिन्हित कर तैनात होने वाले स्थानीय लोगों द्वारा इसकी जानकारी विभागीय अभियंताओं को दी जाएगी।

अब तक होमगार्ड जवान की होती थी प्रतिनियुक्ति

तटबंधों की निगहबानी के लिए अब प्रतिकिमी पर एक होमगार्ड की प्रतिनियुक्ति की जाती थी। होमगार्ड जवानों द्वारा रेट होल, रेनकट वाले स्थानों को ढूूढने के साथ ही बाढ़ के दौरान तटबंध स्थानीय लोगों द्वारा बाढ़ का पानी जमा होने के कारण् तटबंध काटे जाने पर भी नजर रखने का काम किया जाता था। अब यह काम स्थानीय लोगों से कराया जाएगा।

जलस्तर में अभी बढ़ोतरी नहीं, सभी तटबंध सुरक्षित

कोसी के जलग्रहण क्षेत्र एवं पहाड़ पर बारिश कम होने के कारण नदियों का जलसतर अभी सामान्य है। विभागीय जानकारी के मुताबिक जून के अंतिम सप्ताह से जलस्तर में वृद्धि होने की संभावना है। अमदाबाद, मनिहारी, प्राणपुर एवं आजमनगर प्रखंड में कटाव निरोधी काम तेजी से किया जा रहा है। सभी तटबंध सुरक्षित है। कटाव लेकर संवेदनशील स्थानों पर सैंड बैग, मिट्टी का भंडारण कर लिया गया है।

इस बार बाढ़ पूर्व एवं बाढ़ के दौरान तटबंधों की निगरानी के लिए स्थानीय लोगों को तैनात किए जाने का निर्णय मुख्यालय स्तर से लिया गया है। इस एवज में प्रतिदिन न्यूनतम मजदूरी के हिसाब से प्रतिनियुक्त होने वाले श्रमिकों को पारिश्रमिक का भुगतान किया जाएगा। स्थानीय होने के कारण तटबंधों की देखरेख गंभीरता से करने के उद्देश्य से यह निर्णय लिया गया है। इसके अतिरिक्त विभागीय अभियंताओं की टीम द्वारा भी स्थिति पर नजर रखी जा रही है।

राजेंद्र प्रसाद मेहता, मुख्य अभियंता, बाढ़ नियंत्रण प्रमंडल

 

Edited By: Abhishek Kumar