भागलपुर, जेएनएन। डीजीपी गुप्तेश्‍वर पांडेय रविवार की सुबह सीमांचल दौरा पर पहुंच गए। डीजीपी सहरसा में आयोजित कोसी शिखर सम्मेलन में शिरकत करने यहां पहुंचे। लेकिन सहरसा जाने के दौरान वे यहां के कई जिलों में बिना सूचना के ही चले गए। इस कारण संबंधित जिलों की पुलिस में हड़कंप मच गया। थानों में जाकर वहां की स्थिति का जायजा लिया। कुछ जगह वे संतु‍ष्ट दिखे तो कुछ जगह पुलिस की कार्यशैली पर उन्होंने सवाल खड़े कर दिए। 

पूर्णिया में डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने सदर थाना का औचक निरीक्षण किया। डीजीपी ने विधि व्यवस्था की जानकारी ली। वहीं मुफस्सिल थाना का भी उन्होंने जायजा लिया। उन्होंने थानाध्यक्ष की कार्यशैली पर सवाल उठाते हुए फटकार लगाए।

अररिया एसपी ने किया है शानदार काम

डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय रविवार को सुबह 11 बजे अररिया नगर थाना पहुंचे। यहां उन्‍होंने नगर थाने का निरीक्षण किया। इसके बाद वहां मौजूद सभी पुलिस कर्मियों से हाथ मिलाकर परिचय प्राप्‍त किया। उन्‍होंने पुलिस कर्मियों को बेहतर काम करने के लिए शाबासी भी दी। उन्‍होंने पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा वे आज कई जिलों के दौरे पर हैं। उन्‍होंने कहा कि अररिया एसपी धूरत शायली के नेतृत्‍व में पुलिस कर्मियों ने काफी बेहतर काम किया है इसके लिए अररिया एसपी को धन्‍यवाद देता हूं। डीजीपी ने कहा कि जिले में सरस्‍वती पूजा और जुलूस शांतिपूर्ण तरीके से संपन्‍न हो गया। यह बेहतर पुलिसिंग के कारण संभव हुआ। वे सुबह कटिहार पहुंचे और वहां समीक्षा की। इसके बाद पूर्णिया में पुलिस कर्मियों से मिले और इसके बाद अररिया पहुंचा हूं। अब वे यहां से सुपौल सहरसा, होते हुए दरभंगा आदि जगहों पर भी जाएंगे। उनके साथ पूर्णिया आइजी विनोद कुमार भी मौजूद थे।

कैपिटल एक्सप्रेस से कटिहार पहुंचे

डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय कैपिटल एक्सप्रेस से कटिहार पहुंचे। वे स्टेशन से सीधे परिसदन पहुंचे और वहां कुछ देर रुकने के बाद पूर्णिया के लिए रवाना हुए। इस दौरान वे रौतारा थाना का औचक निरीक्षण किया। यद्यपि थाना में वे बमुश्किल दस मिनट रुके और फिर पूर्णिया रवाना हो गए। इस दौरान उन्होंने कोढा गैंग पर नकेल कसने का सख्त निर्देश दिया।

पुर्णिया में थानों का किया औचक निरीक्षण

पुलिस महानिदेशक गुप्तेश्वर पांडेय अचानक सुबह 8.45 बजे पूर्णिया पहुंचे। डीजीपी कटिहार से आने के दौरान सबसे पहले मुफ्फसिल थाना पहुंचे। थाना पहुंचे डीजीपी ने स्टेशन डायरी को देख और थानेदार से विधि व्यवस्था की जानकरी ली। इस दौरान डीजीपी से लंबित कांडों के जल्द से जल्द निष्पादन करने, जमीन से जुड़े विवाद की जानकारी मिलते ही कार्रवाई करने और शराब कारोबारी पर सख्त कार्रवाई करने का निर्देश दिया। मुफ्फसिल थाना में डीजीपी करीब सात मिनट रुके। इसके बाद डीजीपी सीधे सदर थाना पहुंचे। सदर थाना पहुंचे डीजीपी ने थाना पर मौजूद पुलिस पदाधिकारी और कर्मियों से हाथ मिला कर परिचय लिया। इसके बाद थानाध्यक्ष कक्ष में बैठ कर स्टेशन डायरी को देखा साथ ही विधि व्यवस्था को लेकर कई आवयश्क निर्देश भी दिए। सदर थाना पहुंचे डीजीपी करीब 10 मिनट रुके। डीजीपी के साथ पूर्णिया प्रक्षेत्र के आईजी विनोद कुमार, एसपी विशाल शर्मा, प्रशिक्षु आइपीएस प्रमोद कुमार यादव, सदर डीएसपी आनंद कुमार पांडेय समेत कई अधिकारी और कर्मी मौजूद थे। सदर थाना से निकलने के बाद अररिया जाने के दौरान डीजीपी जलालगढ़ थाना पहुंचे। जहां थानाध्यक्ष से विधि व्यवस्था की जानकारी लेने के साथ लंबित मामलों के निष्पादन जल्द से जल्द करने का आदेश दिया। करीब 10 मिनट तक डीजीपी जलालगढ़ थाना पर रुके। इसके बाद अररिया के लिए निकल गए। बता दें कि डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय सहरसा में आयोजित कोसी शिखर सम्मेलन में शिरकत करेंगे।

सहरसा : डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने उग्र तारा मंदिर में जाकर पूजा अर्चना की। डीजीपी इससे पहले डीजीपी बनगांव पहुंचे। वे यहां होमगार्ड के डीजी आरके मिश्रा के घर भी पहुंचे। गौरतलब हो कि डीजीपी सहरसा में आयोजित कोसी शिखर सम्मेलन में भाग लेने आए हुए हैं। 

Posted By: Dilip Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस