संवाद सहयोगी, जमुई। थाना क्षेत्र अंतर्गत अमारी पंचायत के अमारी टोलाटांड़ गांव में गुरुवार की देर रात अज्ञात अपराधियों ने एक युवक की गोली मारकर हत्या कर दी। गोली कनपट्टी में मारी गई है। घटना के बाद से इलाके में सनसनी फैल गई है। मृतक की पहचान माहो तांती के 35 वर्षीय पुत्र किशोरी तांती के रूप में हुई है। बताया जाता

है कि मृतक किशोरी तांती गुरुवार की शाम धान खेत से खाद्य छींटकर घर लौटा और पत्नी से किसी काम के लिए पैसा मांगा। पत्नी बोबी देवी ने उसे चालीस रूपया दिया और वह पैसा लेकर घर से निकल गया। इसके बाद किशोरी देर रात तक घर नहीं लौटा। काफी खोजबीन के बाद भी उसका कुछ पता नहीं चल सका।

इसी बीच शुक्रवार की सुबह उसका शव घर के समीप ही एक सुनसान मकान में पड़ा मिला। बगल के धान खेत में खून का निशान मिला है। जिससे संभावना जताई जा रही है कि हत्या उसी जगह की गई और शव को सुनसान मकान में छुपा दिया गया। ग्रामीणों द्वारा घटना की सूचना पुलिस को दी गई। सूचना पाकर प्रभारी थानाध्यक्ष संजीत

कुमार एवं पुअनि शंभू शर्मा दलबल के साथ घटनास्थल पर पहुंच शव को पोस्टमार्टम के लिए जमुई सदर अस्पताल भेज मामले की छानबीन शुरु की।

प्रभारी थानाध्यक्ष संजीत कुमार ने बताया कि मृतक की पत्नी बोबी देवी के बयान पर अज्ञात अपराधियों के खिलाफ मामला दर्ज कर आगे की कार्रवाई की जा रही है। घटना के बाद से मृतक के घर कोहराम मचा है। स्वजन के चीत्कार से माहौल गमगीन है। मृतक को पांच छोटे- छोटे बच्चे हैं। वह मजदूरी कर परिवार का भरण- पोषण करता था।

'घटना की जानकारी मिली है। पुलिस मामले की छानबीन कर रही है। जल्द ही अपराधियों को चिन्हित कर उनकी गिरफ्तारी की जाएगी। चुनाव ड्यूटी में हूं फिलहाल कुछ विशेष नहीं बता पाऊंगा।'- डा राकेश कुमार, एसडीपीओ, जमुई।

अब केकरा सहारे रहबई हो राजा....

अमारी पंचायत के टोलाटांड़ गांव में अज्ञात अपराधियों ने किशोरी तांती की गोली मारकर हत्या कर दी। घटना के बाद से स्वजनों पर दु:ख का पहाड़ टूटू पड़ा है। शव से लिपट कर मृतक की पत्नी बोबी देवी का रो-रो कर बुरा हाल था। वह बार-बार कह रही थी कि अब केकरा सहारे रहबई हो राजा।

हमर सब बाल-बच्चा अनाथ हो गेइले। बोबी के विलाप से पड़ोस की महिलाओं की आंखें भी नम हो गई। मां रामवती देवी एवं बहन तुलसी देवी भी फूट-फूट कर रो रही थी। पुत्र कर्ण कुमार, राहुल कुमार,अजीत कुमार , रोशन कुमार, किशन कुमार और पुत्री ऋतिका भी फफक कर रो रही थी। मृतक किशोरी मजदूरी का परिवार चलाता था। अब उसके दुनिया छोड़ चले जाने से परिवार पर विपत्ति आ गई है।

 

Edited By: Shivam Bajpai