जागरण संवाददाता, भागलपुर!  शहर में स्मार्ट सिटी के कार्यों में तेजी और नई योजनाओं की स्वीकृति के लिए शनिवार को प्रधान सचिव आनंद किशोर की अध्यक्षता में भागलपुर स्मार्ट सिटी लिमिटेड के बोर्ड आफ डायरेक्टर की बैठक हुई। वर्चुअल माध्यम से हुई बैठक में डीएम सुब्रत कुमार सेन, नगर आयुक्त समेत प्रबंध निदेशक और मेयर सीमा साहा भी शामिल हुईं। इस दौरान 20 मिनट की बैठक में भैरवा तालाब के सुंदरीकरण की योजना को प्रशासनिक स्वीकृति मिल गई।

- 186 करोड़ रुपये से 15.60 एकड़ तालाब और 8 एकड़ में पार्क का होगा विकास कार्य

- कचहरी चौक के पास सरफेस वाहन पार्किंग की भी मिली प्रशासनिक स्वीकृति, डीपीआर तैयार करने का आदेश

-आदमपुर के सीएमएस स्कूल और कचहरी परिसर स्थित ललित भवन का भी होगा जीर्णोद्धार

- सीईओ संजीत कुमार के त्यागपत्र देने के बाद अब नगर आयुक्त सह प्रबंध निदेशक को मिला अतिरिक्त प्रभार

 

186 करोड़ की लागत से साहिबगंज में भैरवा तालाब का सुंदरीकरण होगा। करीब 15. 60 एकड़ क्षेत्र में फैले तालाब में वाटर स्पोट््र्स फाउंटेन आदि की सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी। वहीं, तालाब परिसर के 8 एकड़ जमीन में बच्चे और बुजुर्गों के लिए विशेष तौर पर पार्क बनाया जाएगा। प्रधान सचिव ने बैठक के दौरान भैरवा तालाब की डीपीआर को तैयार कर तकनीकी स्वीकृति के लिए भेजने को कहा है। इन सारी प्रक्रियाओं के बाद शीघ्र ही इसकी निविदा निकाली जाएगी। वहीं, आदमपुर स्थित सीएमएस स्कूल के ऐतिहासिक भवन का जीर्णोद्धार किया जाएगा। पीडीएमसी को डीपीआर तैयार करने का निर्देश दिया गया है। कचहरी परिसर में ललित भवन का जीर्णोद्धार होगा। कचहरी चौक के समीप अब वाहन पार्किंग बनाई जाएगी। इसके लिए डीपीआर तैयार करने का भी निर्देश दिया गया है। इससे पहले स्मार्ट सिटी की योजना से पार्किंग का निर्माण चार जगह होना है। जिसकी निविदा भी जारी कर दी गई है।

वहीं बैठक में स्मार्ट सिटी की योजना से चल रहे कार्यों की भी समीक्षा की गई। इस दौरान सैंडिस कंपाउंड के कार्य में तेजी लाने और शेष टेंडर के कार्यों को धरातल पर उतारने का निर्देश दिया गया। इसके साथ बोर्ड में अब तक लिए गए निर्णय के आलोक में अनुपालन की भी रिपोर्ट मांगी गई।

 

Edited By: Abhishek Kumar