जागरण संवाददाता, भागलपुर। शहीद जुब्बा सहनी केंद्रीय कारा से 17 मई 2022 को न्यायालय में पेशी के दौरान रस्सा सरका कर भाग निकला कुख्यात मुहम्मद तनवीर मंगलवार को नागपुर से पिस्टल के साथ गिरफ्तार कर लिया गया। उसकी गिरफ्तारी के लिए एसएसपी बाबू राम ने तकनीकी सेल को उसकी निगरानी के लिए लगा रखा था। मंगलवार को उसका नागपुर में लोकेशन मिलने पर नागपुर पुलिस से समन्वय बना उसकी गिरफ्तारी कराने में एसएसपी सफल रहे। तनवीर को नागपुर से लाने के लिए एक टीम भागलपुर से किसी भी वक्त रवाना हो जाएगी।

सीजेएम कोर्ट के समीप रस्सा सरका कर भागने में हो गया था सफल

17 मई 2022 को शहीद जुब्बा सहनी केंद्रीय कारा से विस्फोटक पदार्थ अधिनियम से जुड़े कोतवाली थाने के एक केस में तनवीर को पेशी के लिए लाया गया था। कोर्ट हाजत से उसे पेशी के लिए जब ले जाया गया तब उससे मिलने उसके तीन नजदीकी भी पहुंचे थे। जो कोर्ट हाजत से पैदल जाते समय तनवीर से सट कर बातचीत कर आगे बढ़ रहे थे। उन्हीं तीनों समर्थकों की ओट लेकर तनवीर सीजेएम कोर्ट के समीप रस्सा सरकाने में सफल हो गया और चुपके से वहां से निकल गया। पेशी को ले जा रहे हवलदार को भनक अदालत में पहुंचने पर लगी थी। सीसी कैमरे में तब तनवीर के भागने की गतिविधि कैद हो गई थी। पुलिस टीम चंद मिनटों में तीन नजदीकी लड़कों को हिरासत में लिया। उनसे पुलिस को जानकारी मिली कि तनवीर नागपुर या बेंगलुरु भाग सकता है।

21 सितंबर 2021 में हैदराबाद से हुई थी इस शातिर की गिरफ्तारी

तातारपुर थाना क्षेत्र के आशानंदपुर का रहने वाला तनवीर रेल थाना क्षेत्र भागलपुर, तातारपुर और कोतवाली थाना क्षेत्र में हुए पांच संगीन मामलों में आरोपित रहा है। 2013 से जरायम दुनिया के मामूली प्यादे के रूप में सामने आए इस बदमाश ने अपनी हरकतों से पुलिस और आम लोगों की नाक में दम कर रखा था। इस दौरान यह मीडियाकर्मियों पर भी हमलावर रहा। पुलिस जब-जब सख्त हुई तो वह गिरफ्तार भी हुआ। मीडियाकर्मियों पर तातारपुर थाना क्षेत्र में देर रात गोली चलाने वाले इस बदमाश को पुलिस ने दूसरे दिन एक पिस्टल और एक तमंचे के साथ गिरफ्तार कर लिया था। 2017 में कोतवाली थाना क्षेत्र के सूजागंज बाजार स्थित मस्जिद गली में बम धमाका करने मामले में वह लंबे समय तक फरार रहा।

इस दौरान उसने इंटरनेट मीडिया में एसएसपी को उसे गिरफ्तार करने की चुनौती दे डाली थी। उसकी चुनौती को स्वीकार करते हुए तत्कालीन एसएसपी निताशा गुडिय़ा ने तकनीकी निगरानी के जरिये 21 सितंबर 2021 को हैदराबाद से उसकी गिरफ्तारी सुनिश्चित कराने में सफल रही थी। तब से वह जेल में था। पेशी के दौरान वह भागने में सफल रहा था। भागलपुर पुलिस भी उसकी गतिविधियों पर लगातार नजर बनाए रही तो तकनीकी निगरानी में पुलिस टीम को बड़ी कामयाबी हासिल हो गई। न्यायालय से उसके भाग जाने की घटना पर एसएसपी ने सिटी एएसपी शुभम आर्या को जांच कर रिपोर्ट सौंपने को कहा था। सिटी एएसपी ने अपनी रिपोर्ट भी सौंप दी है। एसएसपी बाबू राम उक्त रिपोर्ट पर आगे की कार्रवाई तय करेंगे।

Edited By: Dilip Kumar Shukla