भागलपुर [दिलीप कुमार शुक्ला]। जीरोमाइल-सबौर रोड में 25 फरवरी 2020 को भाजपा के नवनिर्मित कार्यालय में केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे बैठक करेंगे। इस बैठक श्री चौबे भाजपा की नई जिला कार्यकारिणी को संबोधित करते वाले हैं। लेकिन अब तक भागलपुर में भाजपा ने अपनी इकाई का गठन नहीं किया है। जिलाध्यक्ष बनने के बाद रोहित पांडेय ने 15 जनवरी 2020 तक इकाई गठित कर लेने की बात कही थी। भाजपा के जिला इकाई में 21 पदाधिकारी होते हैं। इसके अलावा 70 कार्यकर्ता कार्यकारिणी सदस्य के रूप में रहते हैं। यहां बता दें कि बिहार के प्रत्येक जिलों में भाजपा के बड़े नेता या केंद्रीय मंत्री जिले की नई कार्यसमिति के साथ बैठक करने पहुंच रहे हैं। इसी क्रम में अश्विनी चौबे भागलपुर आ रहे हैं। लेकिन यहां के जिलाध्यक्ष ने अब तक नई जिला इकाई की घोषणा नहीं की है। 

रोहित पांडेय का भी विलंब से हुआ था मनोनयन

15 दिसंबर 2019 को भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश नेतृत्व ने बिहार के 31 जिलाध्यक्षों के नामों की घोषणा कर दी थी। भागलपुर सहित 14 जिलाध्यक्षों के नामों को तय करने में प्रदेश नेतृत्व में काफी मशक्कत करनी पड़ी। 15 दिसंबर को नाम की घोषणा हो जाने की उम्मीद को देखते हुए रोहित पांडेय पटना पहुंच गए थे। लेकिन उस दिन उनके नामों की घोषणा नहीं हुई। इस दौरान वे लगातार कई दिनों तक जिला उपाध्यक्ष दिलीप निराला के साथ पटना में कैंप करते रहे। इसके बाद 20 दिसंबर 2019 को प्रदेश नेतृत्व ने शेष 14 जिलाध्यक्षों के नामों की घोषणा की। इस दिन भाजपा जिलाध्यक्ष के रूप में भागलपुर से रोहित पांडेय को मनोनीत किया गया था। रोहित पांडेय का यह जिलाध्यक्ष के रूप में दूसरा कार्यकाल है।

यह भी पढ़ें  

BJP : चुनौतियों से भरा है जिलाध्यक्ष रोहित पांडेय का दूसरा कार्यकाल, इकाई गठन करना सबसे कठिन Bhagalpur News

क्या दबाव में हैं जिलाध्यक्ष

जिलाध्यक्ष रोहित पांडेय ने बताया कि जिला इकाई बना ली गई है। शीघ्र सभी पदाधिकारियों और कार्यसमिति सदस्‍यों के नामों की घोषणा कर दी जाएगी। विलंब का कारण के बारे में पूछे जाने पर जिलाध्‍यक्ष ने कहा कि शुभ तिथि देखकर इकाई की घोषणा कर दी जाएगी। इससे पहले भी रोहित पांडेय से जब भी पूछा गया उन्‍होंने यही उत्‍तर दिया कि एक-दो दिनों में जिला इकाई की घोषणा हो जाएगी। उन्‍होंने कहा अश्विनी चौबे के साथ जो बैठक होनी है, उस बैठक में जिले के सभी प्रमुख कार्यकर्ता रहेंगे।

गुटबाजी से परेशानी

भाजपा सूत्रों के अनुसार जिला इकाई गठन करने में जिलाध्यक्ष को कई प्रकार से दबाव झेलना पड़ रहा है। पुरानी इकाई के पदाधिकारी और कार्यसमिति सदस्‍य को पूरी तरह हटा देना संभव नहीं है। लगभग आधे से ज्‍यादा लोग पुरानी इकाई से ही रहेंगे। 20 दिसंबर 2019 को उनके फ‍िर से जिलाध्‍यक्ष बनने के साथ ही जिला इकाई में पदाधिकारी बनने के लिए सेटिंग-गेटिंग का खेल शुरू हो गया था। उनके सामने यह समस्‍या है कि किन्‍हें पदाधिकारी के रूप में चुना जाय। इस पद को प्राप्त करने के लिए सैकड़ों कार्यकर्ता दावेदारी पेश कर रहे हैं। उन्‍हें अपनी जिला इकाई गठन करने के साथ सभी मोर्चा के जिलाध्यक्ष की घोषणा करने में भी परेशानी हो रही है। जिलाध्यक्ष रोहित पांडेय ने कहा कि इकाई गठन में देर भले ही देरी हो रही है, लेकिन जो होगा दुरूस्त होगा।

भागलपुर में भाजपा को मिल गया है अपना कार्यालय

जिलाध्यक्ष रोहित पांडेय ने बताया कि भागलपुर के जीरोमाइल-सबौर रोड में भाजपा का अपना कार्यालय बन गया है। इसका उद्घाटन 22 फरवरी 2020 को पटना से वीडियो कॉफ्रेंसिंग के माध्‍यम से भाजपा के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष जेपी नड्डा ने किया था। रोहित पांडेय जिले के पहले जिलाध्यक्ष हैं, जिन्‍हें पार्टी की सभी गतिविधियों के संचालन के लिए अपना कार्यालय मिला है। 11520 वर्ग फीट क्षेत्र में बने इस दो मंजिला कार्यालय की भव्‍यता देखने में बनती है। कार्यालय में बड़े-बड़े कार्यक्रम करने और एक साथ कई जिलों के कार्याकर्ताओं का सम्मेलन करने की क्षमता है।

जिलाध्यक्ष की सबसे कठिन परीक्षा है विधानसभा चुनाव

वर्ष 2020 में बिहार विधानसभा के चुनाव होंगे। सांगठनिक रूप से भागलपुर जिले में पांच विधानसभा सीट हैं। इन पांचों सीटों पर भाजपा का कोई विधायक नहीं है। वर्ष 1995 में ज्यादातर सीटों से गठबंधन के प्रत्याशी चुनाव लड़े थे। अभी पांचों विधानसभा क्षेत्र में कांग्रेस के दो, जदयू के दो और राजद के एक विधायक हैं। जदयू के विधायक सुल्तानगंज और नाथनगर, कांग्रेस के विधायक कहलगांव और भागलपुर नगर और राजद के विधायक पीरपैंती विधानसभा में हैं। जिलाध्यक्ष रोहित पांडेय को विधानसभा चुनाव के दौरान कठिन परीक्षा से गुजरना होगा। इसके अलावा कोसी निर्वाचन क्षेत्र के विधान परिषद का भी चुनाव होना है। वर्तमान में इस विधान परिषद सीट पर भाजपा के डॉ एनके यादव विधान पार्षद हैं। वहीं, हाल में हुए लोकसभा चुनाव में भाजपा की परंपरागत भागलपुर लोकसभा सीट भी जदयू के खाते में चली गई।

नवगछिया जिला भाजपा का इकाई गठित

नवगछिया के भारतीय जनता पार्टी के जिलाध्यक्ष विनोद कुमार मंडल ने बताया कि उन्होंने जिला इकाई का गठन कर लिया है। सभी पदाधिकारी और कार्यसमिति सदस्य मनोनीत कर दिए गए हैं। जिलाध्यक्ष ने कहा कि इस संबंध में सभी को पत्र भेज दिया गया है। उन्होंने कहा नई कार्यसमिति के गठन में काफी परेशानी होती है। पहले चयनित पदाधिकारियों और कार्यसमिति सदस्यों की सूची बिहार प्रदेश भाजपा कार्यालय को भेज दी जाती है। इसके बाद प्रदेश नेतृत्व कुछ सुझाव देते हैं। फ‍िर नई सूची भेजी जाती है, जिसपर प्रदेश नेतृत्व अपनी सहमति देकर घोषणा करने को कह देते हैं। विनोद कुमार मंडल ने कहा कि इसी प्रक्रिया के तहत उन्होंने जिला इकाई के पदाधिकारी और कार्यसमिति सदस्यों को मनोनीत कर दिया। उन्होंने कहा कि 26 फरवरी 2020 को केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे नवगछिया आ रहे हैं। वे यहां पार्टी के नवनिर्मित कार्यालय में नई जिला इकाई के साथ बैठक करेंगे। उन्होंने कहा कि मंत्री के साथ होने वाली बैठक का तभी औचित्य है जब नई इकाई का गठन कर लिया गया हो। उन्होंने कहा कि राज्य के प्रत्येक जिले में नई कार्यसमिति के साथ बैठक करने मंत्री आ रहे हैं। इस कारण जिलाध्यक्ष विनोद कुमार मंडल ने मंत्री के साथ होने वाली बैठक के पूर्व ही अपनी जिला इकाई की घोषणा कर दी।

यह भी पढ़ें

नवगछिया भाजपा जिला कार्यसमिति का‍ विस्तार, जानिए... किनको मिलेगी जगह Bhagalpur News

नवगछिया जिलाध्यक्ष के सामने चुनौती

नवगछिया में दो विधानसभा सीटें हैं। लेकिन एक पर भी भाजपा के विधायक नहीं है।‍ बिहपुर विधानसभा सीट राजद की वर्षा रानी और गोपालपुर सीट जदयू के नरेंद्र कुमार नीरज पास है। वर्ष 2020 में जिलाध्यक्ष विनोद मंडल को यहां से कमल खिलाना एक चुनौती रहेगा। इस बार नवगछिया में भी भाजपा को अपना कार्यालय मिल गया है। जिलाध्यक्ष विनोद कुमार मंडल ने बताया कि यहां दस वर्ग फीट क्षेत्र में भव्य कार्यालय का निर्माण कराया गया है। इसका उद्घाटन 22 फरवरी 2020 को पटना से वीडियो कॉफ्रेंसिंग कर भाजपा के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष जेपी नड्डा ने किया। विनोद कुमार मंडल पहले जिलाध्यक्ष होंगे, जिन्हें नवगछिया से अपने कार्यालय में बैठकर पार्टी की गतिविधियों को संचालित करने का मौका मिलेगा। विनोद कुमार मंडल (37 वर्ष) बिहार में सबसे कम उम्र के जिलाध्यक्ष हैं। 

Posted By: Dilip Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस