भागलपुर [कौशल किशोर मिश्र]। नाथनगर रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म संख्या-दो के लाइन संख्या तीन की पटरी पर 17 फरवरी 2021 की शाम बरामद घातक श्रेणी के विस्फोटक का सच रेल पुलिस की तफ्तीश में सामने आया है। तफ्तीश के क्रम में पुलिस ने यह जानकारी जुटाई है कि नक्सली बलीक्षर कोड़ा अपने 12 साथियों के साथ इस रेलखंड पर धमाके की साजिश रची थी। विस्फोटक ले जाने के क्रम में नाथनगर में पटरी पर गिर गया था। उसी क्रम में बलीक्षर से जुड़े किसी साथी का पर्स भी गिर गया था जो विस्फोटक ले जा रहा था। जिससे तफ्तीश में रेल पुलिस ने बलीक्षर के अन्य साथियों अर्जुन कोड़ा, पूर्वी बिहार, पूर्वोत्तर झारखंड स्पेशल एरिया कमेटी के एरिया कमांडर, शाहकुंड के जानीपुर निवासी मुहम्मद बबलू, मुहम्मद सिराज, मुंगेर धरहरा के अनिल कोड़ा, मुहम्मद परवेज, आशुतोष कुमार, मुहम्मद औरंगजेब, वीरेंद्र शर्मा, मुकुल राय, विकास झा और समस्तीपुर के मुहम्मद का नाम सामने आया है। रेल पुलिस ने इन आरोपितों के विरुद्ध् देशद्रोह का आरोप सत्य पाते हुए आगे की कार्रवाई को हरी झंडी दे दी है। आरोपितों को सलाखों के पीछे ढकेलने के लिए रेल पुलिस जाल बिछा रही है।

मुहम्मद बबलू, एनामुल और साक्षी की तकनीकी निगरानी में मिले हैं कई साक्ष्य

रेल पुलिस की तफ्तीश में शाहकुंड निवासी मुहम्मद बबलू के अलावा एनामुल और साक्षी कुमारी की तकनीकी निगरानी में कई साक्ष्य भी हाथ लगे हैं। रेल पुलिस उपाधीक्षक विनय राम ने तीनों की तकनीकी निगरानी के लिए रेल एसपी से अनुरोध किया था। जिसके बाद साइबर सेल की तकनीकी निगरानी में 7061834269, 9572443133 और 8409446503 संख्या के मोबाइल नंबर की एक साल की गतिविधियों की निगरानी में कई बातें सामने आई है। रेल पटरी पर जिस दिन विस्फोटक, पर्स और अन्य सामग्री बरामद की गई थी उसके एक दिन बाद 18 फरवरी 2021 को उग्रवादी संगठनों का रेल रोको आंदोलन था प्रस्तावित था। रेल पुलिस उसी को केंद्र ङ्क्षबदु में रखकर तफ्तीश को तेजी से आगे बढ़ाई है। अज्ञात के विरुद्ध् दर्ज किए गए इस विशेष मुकदमे में तफ्तीश के क्रम में पहचान में आए बलीक्षर कोड़ा और उसके गिरोह के सदस्यों की धरपकड़ की कार्रवाई तेज कर दी गई है।

17 फरवरी 2021 की शाम नाथनगर रेलवे स्टेशन की रेल पटरी पर बरामद हुआ था विस्फोटक

17 फरवरी 2021 की शाम नाथनगर रेलवे स्टेशन की रेल पटरी पर शक्तिशाली विस्फोटक बरामद किया गया था। बम बरामद होने की सूचना के बाद नाथनगर इंस्पेक्टर सज्जाद अली पुलिस बल के साथ पहुंचे थे। उसके बाद तो स्टेशन परिसर और आसपास का इलाका छावनी में बदल गया था। एसएसपी निताशा गुडिय़ा, फिर बाद में रेल एसपी और भारी पुलिस बल की मौजूदगी में बम निरोधक दस्ते ने बम को नजदीकी स्कूल परिसर में धमाका कराकर विस्फोटक को निष्क्रिय कर दिया था। इस दौरान करीब पांच घंटे नाथनगर रेलवे स्टेशन और आसपास के इलाके में मौजूद लोगों में बरामद बम को लेकर बेचैनी और कौतूहल कायम रहा था।  

Edited By: Abhishek Kumar