जागरण संवाददाता, भागलपुर। Bhagalpur Bomb Blast:  काजवलीचक में गुरुवार को हुए भीषण धमाके में जमींदोज हुए चार मकानों में मुहम्मद आजाद के मकान में चलने वाले ग्रिल कारखाने में विस्फोटक रखे जाने की शक पर एसआइटी ने शुक्रवार की रात हबीबपुर के चमेलीचक-मोअज्ज्मचक स्थित आजाद के पुश्तैनी घर पर छापेमारी की। इस दौरान उसके दो भाइयों मुहम्म्द शोल्जर और शहजाद को हिरासत में ले लिया गया है। दोनों से हबीबपुर थाने में पूछताछ की जा रही है।

धमाके में आमोनियम, सल्फर समेत अन्य विस्फोटकों के भंडारण को लेकर इस बात की आशंका की जा रही है कि आजाद अपने ग्रिल कारखाने में भी भंडारण कर रखा था। इसी बिना पर एसआइटी उसकी तलाश कर रही है। आजाद और उसके भाइयों का अतीत भी खंगाला जा रहा है। आजाद काजवलीचक स्थित घटनास्थल पर एक जमीन-मकान खरीद रखा था। जिसमें वह ग्रिल का कारखाना संचालित कर रखा था। पुलिस चमेलीचक-मोअज्ज्मचक से काजवलीचक में जमीन-मकान खरीदने के पीछे के सच का भी पता लगा रही है।

आजाद का पश्चिम बंगाल और विस्फोटक पदार्थ तस्करों से कनेक्शन। कोलकाता में पकड़े गए हबीबपुर थानाक्षेत्र के जमील और शकूर से संबंध की भी जानकारी पता कर रही है। एसआइटी की छापेमारी हबीबपुर, तातारपुर और मोजाहिदपुर इलाके में कई जगहों पर की। इस दौरान शोल्जर और शहजाद ही पुलिस के हाथ लगे हैं। इसके पूर्व गुरुवार को ही तातारपुर इंस्पेक्टर रहे एसके सुधांशु ने नवीन आतिशबाज से नाता रखने वाले दो लड़कों को हिरासत में लेकर पूछताछ की। पुलिस विक्रमशिला कालोनी स्थित एक दागी आतिशबाज की तलाश में छापेमारी कर रही है।

उसके जमालपुर में होने की बात कही जा रही है। बिना लाइसेंस के विस्फोटक रखने और उससे बम बनाने की बात स्थानीय हलकों में चर्चा में पूर्व से रही है। एसएसपी बाबू राम ने विस्फोटक पदार्थ रखने और बिना लाइसेंस के पटाखा बनाने वालों की बाकायदा सूची तैयार कर उनके विरुद्ध कार्रवाई का निर्देश दिया है। एसआइटी और डाग स्क्वाड की मदद से विस्फोटक पदार्थों की बरामदगी के लिए काजवलीचक, परबत्ती में भी छापेमारी की है। धमाके को लेकर तातारपुर थाने में गुरुवार को एक स्टेशन डायरी अंकित की गई थी। मामले में केस दर्ज करने की कवायद शुरू कर दी गई है।

Edited By: Abhishek Kumar