जागरण संवाददाता, भागलपुर। भागलपुर के तातारपुर थानाक्षेत्र के सराय मोहल्ले में गुरुवार की दोपहर भाजपा नेता प्रशांत विक्रम ने अपनी विधवा मौसी सरिता सिंंह और उनकी दोनों बेटियों को मारपीट कर लहूलुहान कर दिया। उन्हें घर से बाहर करते हुए धमकी दी कि लौट कर आई तो मार डालूंगा। जख्मी हालत में सरिता अपनी बेटियों संग तातारपुर थाने पहुंची पर वहां उनकी शिकायत नहीं सुनी गई। जिसके बाद सरिता अपनी बेटियों संग एसएसपी निताशा गुडिय़ा के पास फरियाद लगाने पहुंच गई।

सरिता सिंह ने बताया कि उनका बहिन बेटा प्रशांत संपत्ति के लोभ में अंधा हो चुका है। उनके पति की मृत्यु काफी पहले कैंसर से हो चुकी है। एक मकान ही सहारा बचा है जीने और बेटियों को पालने का। सरिता ने एसएसपी को जानकारी दी कि उनकी बड़ी बहन शोभा सि‍ंह के बेटे प्रशांत विक्रम ने मारपीट कर अधमरा कर दिया। उनकी दो बेटियों मोनिका स‍िंह और शैलजा सि‍ंह बीच बचाव को आगे आई तो उन्हें भी राइफल की बट से मारपीट कर जख्मी कर दिया। सरिता और उनकी बेटियों ने बताया कि मकान सराय पर है। उनके मकान पर जबरन प्रशांत विक्रम ने कब्जा कर लिया है। सरिता देवी का कहना है कि उनके पति विपिन कुमार स‍िंह की मृत्यु कैंसर से पूर्व में हो चुकी है। मकान में अब दो जवान बेटियां प्ले स्कूल खोलना चाहती हैं। लेकिन जैसे ही उनकी बेटियों ने प्रयास किया तो प्रशांत विक्रम ने तीनों को मारपीट कर लहूलुहान कर दिया।

भाजपा नेता प्रशांत विक्रम से पूछे जाने पर उन्होंने मारपीट की घटना से इंकार कर दिया। हालांकि उन्होंने यह स्वीकार किया कि स्कूल स्टाफ से नोकझोंक हुई थी, पर उन्होंने मारपीट नहीं की है। यहां बता दें कि प्रशांत विक्रम भारतीय जनता पार्टी के शिक्षक प्रकोष्‍ठ के भागलपुर के जिला संयोजक हैं। यहां के एक बड़े प्राइवेट शिक्षण संस्‍थान से भी वे जुड़े हुए हैं।  

एसएसपी निताशा गुडिय़ा ने कहा कि शिकायत पर जांचोपरांत कार्रवाई के लिए तातारपुर और महिला थाना को कहा गया है।

Edited By: Dilip Kumar Shukla