भागलपुर [जेएनएन]। दुष्कर्म के प्रयास में जहां कठोरतम सजा का प्रावधान है, उसे महज 51 हजार का जुर्माना तय कर रफा-दफा करने की कोशिश का मामला प्रकाश में आया है।

नाथनगर के एक गांव में एक लड़की के साथ दो दिन पूर्व सामूहिक दुष्कर्म का प्रयास किया गया। उसने एक आरोपित को पहचान लिया। इस पर पंचायत बैठी और 51 हजार रुपये जुर्माना लगाकर मामले को खत्म कर दिया गया।

पंचों ने आरोपित के स्वजनों को बुलाकर एक लाख रुपये जुर्माना देने को कहा, लेकिन वे इतनी रकम देने को तैयार नहीं हुए। फिर यह राशि 51 हजार कर दी गई। पंचायत के फैसले को पीडि़त पक्ष भी मान गया, हालांकि उसे अभी तक महज 10 हजार रुपये ही मिले है। उधर, नाथनगर पुलिस को घटना की जानकारी नहीं है। थानाध्यक्ष ने कहा कि यदि कोई शिकायत करेगा तो मुकदमा दर्ज कर आरोपितों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

मिली जानकारी के अनुसार, नाथनगर इलाके के एक गांव में पांच दिवसीय राम सीता विवाह उत्सव चल रहा था। वहीं पर पीडि़ता ने दुकान लगा रखी थी। शनिवार की रात शौच के लिए गई, उसी समय कुछ युवकों ने उसे पकड़ लिया। उसे खींचकर सुनसान जगह पर ले गए और दुष्कर्म का प्रयास किया। उसके शोर मचाने पर सभी उसे छोड़कर भाग निकले। इसके बाद वह भागकर घर पहुंची और परिवार वालों को घटना की जानकारी दी। उसने एक युवक को पहचान लिया था। इसकी शिकायत के बाद गांव में दूसरे दिन पंचायत बैठी, जहां पंचों ने आरोपित के स्वजनों पर जुर्माना लगाया।

घटना की कोई जानकारी नही है। किसी ने लिखित शिकायत नहीं की है। मामला थाने तक आने पर जांच कर आरोपितों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। - सच्जाद हुसैन, इंस्पेक्टर, नाथनगर

Posted By: Dilip Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस