जागरण संवाददाता, किशनगंज। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के सीमांचल में पहली बार आगमन को लेकर लोग काफी अपेक्षित हैं। गृह मंत्री के आगमन को लेकर एआईएमआईएम के प्रदेश अध्यक्ष अख्तरूल इमान ने कहा कि शैक्षणिक, आर्थिक एवं सामाजिक दृष्टि से पिछड़ा सीमांचल के पिछड़ापन को दूर करने के लिए सीमांचल के लिए विशेष पैकेज की घोषणा करें। साथ ही इस क्षेत्र के सौहार्दपूर्ण वातावरण को जो लोग बिगाड़ना चाहते हैं उस पर लगाम लगाने का काम होगा।

यहां बता दें कि अख्तरूल इमान बिहार में अकेले विधायक हैं, जिनका संबंध असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी  एआईएमआईएम से है। यहां बता दें कि केंद्र सरकार से हमलोगों को भी उम्‍मीद है। अमित शाह बिहार के सीमांचल क्षेत्र में आ रहे हैं। यह क्षेत्र काफी पिछड़ा है। इसलिए इस इलाके को स्‍पेशल पैकेज दिया जाए। तभी इस क्षेत्र का विकास होगा। उन्‍होंने कहा कि केंद्र सरकार को बिहार को विशेष राज्‍य का दर्जा भी देना चाहिए। 

नेपाल और बांग्लादेश से सटे होने के कारण हमेशा इस क्षेत्र को संदेह की दृष्टि से देखा जाता है। इसलिए नेपाल एवं बांग्लादेश की सीमा पर पूर्ण रूप से फैंसिंग करा दिया जाए ताकि कोई भी संदिग्ध अवैध रूप से इस क्षेत्र में प्रवेश ना कर सके। कहा कि किशनगंज स्थित एएमयू सेंटर जिसको केंद्र द्वारा फंड नहीं मिलने पर अपनी आखिरी सांसे गिन रहा उसे फंड उपलब्ध कराया जाए। वहीं इस क्षेत्र में जलवायु खराब होने के कारण यहां के लोग बीमार भी अधिक हैं जिस कारण लोगों को उपचार हेतु पटना या दिल्ली जाना पड़ता है। इसलिए यहां एक एम्स की शाखा स्थापित किया जाए। एक ही एक केंद्रीय विश्वविद्यालय स्थापित करने की जरूरत है।

अख्तरूल इमान ने कहा क‍ि सीमांचल का इलाका पड़ोसी देशों से भी जुड़ता है। इसलिए इस इलाके की सुरक्षा के पुख्‍ता इंतजाम होने चाहिए। अवैध रूप से यहां आने-जाने वालों पर रोक लगे। शिक्षा के स्‍तर पर सुधार किया जाए। 

Edited By: Dilip Kumar Shukla