संवाद सहयोगी, जमालपुर (मुंगेर)। पिछले साल दशहरा के दौरान मुंगेर में हुए अनुराग गोलीकांड में जख्मी हुए सुमित कुमार से जुड़े मामले की जांच तेज हो गई है। गुरुवार को भागलपुर से सीआइडी की टीम आदर्श थाना जमालपुर पहुंची। टीम ने काफी देर तक थाना प्रभारी से पूछताछ की।

सुमित पर दर्ज शराब मामले में की फाइलों को भी टीम ने देखा। सीआइडी टीम में शामिल इंस्पेक्टर वैदिक पाठक व सुभाष बैजनाथ ने जमालपुर थाने में दर्ज केस का अवलोकन किया। मामले से संबंधित कई साक्ष्यों को सीआइडी की टीम ने एकत्र किया। हालांकि, जांच के बारे में टीम ने कुछ भी बताने से इन्कार किया। 2020 में मां बड़ी दुर्गा की प्रतिमा के विसर्जन के दौरान हुई गोलीबारी अनुराग की मौत हो गई थी। मुफस्सिल थाना क्षेत्र के अंतर्गत महादेवपुर के सुमित कुमार इस मामले में जख्मी हुए थे। मामले की जांच सीआइडी कर रही है।

गोलीकांड के दो माह बाद शराब के साथ पकड़ा गया सुमित : थानाध्यक्ष रंजन कुमार ने बताया कि 11 दिसंबर, 2020 को पंचमुखी बजरंगबली मंदिर, रामपुर के पास से सीबीजेड मोटरसाइकिल से 18 लीटर देसी शराब बरामद की गई थी। उस दौरान सुमित कुमार व कासिम बाजार थाना क्षेत्र स्थित फौजदारी बाजार के सिंटू कुमार को गिरफ्तार कर उत्पाद अधिनियम के तहत जेल भेजा गया था।

नाम नहीं छापने की शर्त पर टीम के अधिकारी ने बताया कि गोलीकांड मामले में सुमित अक्टूबर माह में जख्मी हुआ था और दो माह बाद शराब के साथ चोरी की मोटरसाइकिल के साथ जमालपुर में गिरफ्तार हुआ। टीम इस मामले की जांच कर रही है। सुमित कुमार ने पुलिस व सीआइडी पर जानबूझकर फंसाने का आरोप लगया था। मानवाधिकार आयोग सहित कई जगह पत्राचार किया था। सीआइडी के अधिकारी ने बताया कि सुमित द्वारा लगाए गए आरोप पूरी तरह बेबुनियाद हैं।

Edited By: Dilip Kumar Shukla