भागलपुर, जेएनएन। साहिबगंज से चकिया जा रही मालगाड़ी पर असामाजिक तत्वों ने सोमवार को घोघा-लैलख स्टेशन के बीच पथराव कर दिया, जिसमें इंजन का शीशा चकनाचूर हो गया। लोको पायलट पीके प्रभाकर और सहायक लोको पायलट बाल-बाल बच गए। लोको पायलट ने इसकी शिकायत सबौर और भागलपुर स्टेशन पर की है। घटना की जानकारी मुख्यालय मालदा रेल मंडल को भी दी गई है।

साहिबगंज से चकिया के लिए इलेक्ट्रिक इंजन लगी मालगाड़ी खुली थी, जिसकी रफ्तार 90 किमी के आसपास थी। तभी असमाजिक तत्वों ने सामने से पथराव शुरू कर दिया। चालक ने सतर्कता बरते हुए मालगाड़ी को सुरक्षित निकाल लिया। इमरजेंसी ब्रेक लगाने पर गाड़ी पलट सकती थी।

भागलपुर जंक्‍शन पर नहीं मानें पैसेंजर, सभी ने लांघी लक्ष्मण रेखा, 

भागलपुर। साहिबगंज-भागलपुर-किऊल मेमू पैसेंजर (कोविड स्पेशल) के चलने से यात्रियों को बड़ी राहत तो मिली है, लेकिन कोविड नियमों का भी खूब उल्लंघन हो रहा है। रविवार को पहले दिन की अपेक्षा में यात्रियों की संख्या ज्यादा रही। मेमू पैसेंजर से अप और डाउन में कुल 1068 यात्रियों ने सफर किया। ट्रेन पर सवार होने के लिए यात्रियों में बेचैनी दिखी। जांच काउंटर पर यात्रियों की लंबी कतार लग गई। लोगों ने शारीरिक दूरी का पालन नहीं किया।

आरपीएफ और जीआरपी जवान स्टेशन पर मुस्तैद दिखे, लेकिन यात्री मानने को तैयार नहीं थे। कोच के अंदर भी एक सीट पर तीन से ज्यादा यात्री बैठे थे। घर पहुंचने की जल्दबाजी इतनी थी कि कोविड नियम को भी भूल गए। मेमू पैसेंंजर अप और डाउन दिशा में राइट टाइम पहुंची। दरअसल, पैसेंजर ट्रेनों का परिचालन बंद होने की वजह से मालदा रेल मंडल के सभी स्टेशनों और हॉल्ट पर साधारण टिकट काउंटर को बंद कर दिया गया था। अब स्पेशल पैसेंजर ट्रेन का परिचालन शुरू होने के बाद काउंटर खोल दिए गए हैं। सुबह सात से रात आठ तक टिकट काउंटर खुले रहेंगे।

 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस