जागरण संवाददाता, भागलपुर। गृह मंत्री अमित शाह की जनभावना सभा पूर्णिया के इंदिरा गांधी स्टेडियम में 23 सितंबर को होगी। इस जनसभा में भागलपुर व नवगछिया से काफी संख्या में लोग हिस्सा लेंगे। बिहार में महागठबंधन की सरकार बनने के बाद पहली बार भाजपा की कोई बड़ी सभा हो रही है। अररिया, कटिहार, पूर्णिया, किशनगंज से भले ही भाजपा से जीत दर्ज कराती रही है, लेकिन पूरी तरह यह क्षेत्र भाजपा के गढ़ में तब्दील नहीं हो सका है।

गृहमंत्री की सभा सीमावर्ती क्षेत्र में घुसपैठिए के सवाल पर हो रही है। यह क्षेत्र आइएसआइ का केंद्र बनता जा रहा है। सरकार घुसपैठियों को हर सुविधाएं मुहैया करा रही है। वोटर कार्ड बनवा रही है। राशन व आधार कार्ड बनवा रही है। घुसपैठियों का इस्तेमाल वोट बैंक के रूप में किया जा रहा है। यह बातें भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता प्रेम रंजन पटेल ने भागलपुर परिसदन में संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कही।

उन्होंने कहा कि यह सरकारी कार्यक्रम है। इस कार्यक्रम को बिहार सरकार को भी सहयोग करना चाहिए। उन्होंने कह कि 2013 में जब नीतीश कुमार महागठबंधन के साथ गए थे, तो भाजपा 31 लोकसभा सीट पर जीत दर्ज की थी। इस बार 40 की 40 सीट भाजपा जीतेगी। नीतीश कुमार की स्थिति 2013 से भी बदतर होगी। भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता शाहनवाज हुसैन ने कहा कि सीमावर्ती इलाके के विकास के लिए गृह मंत्री अमित शाह की रैली हो रही है। सीमावर्ती इलाके को नया राज्य बनाने की कोई चर्चा ही नहीं है। सीमावर्ती इलाका बिहार का अभिन्न अंग है और रहेगा।

उन्होंने कहा कि पटना और नालंदा की तरह भागलपुर, मुंगेर, पूर्णिया व कोसी प्रमंडल का भी विकास हो, इसका प्रयास भाजपा कर रही है। अमित शाह के आने से सीमावर्ती इलाका मजबूत होगा। उन्होंने कहा कि अपराध, आतंकवाद, अलगाववाद पर चोट किया जाएगा। इस दौरान भागलपुर के भाजपा जिलाध्‍यक्ष रो‍हित पांडेय भी साथ थे। 

Edited By: Dilip Kumar Shukla