संवाद सहयोगी, बौंसी (बांका)। पंचायत चुनाव में चली बदलाव की बयार में अधिकांश मुखिया ने अपनी सीट गंवा दी है। शुक्रवार को पंचायत चुनाव के मतदान के बाद आया परिणाम में प्रखंड के 14 पंचायतों में सिर्फ चार मुखिया ही अपनी कुर्सी बचा सके हैं। हाइप्रोफाइल सीट कुडऱो पंचायत से स्थानीय मंत्री के चाचा जयशंकर रवि की प्रतिष्ठा दांव पर लगी थी। उन्होंने अपने प्रतिद्वंदी को 677 वोटों से हराकर अपनी कुर्सी बरकरार रखी। इसी तरह अंगारू जबड़ा पंचायत में पूर्व विधायक भोला यादव के पुत्र पप्पू यादव की पत्नी अर्चना देवी 1519 रिकार्ड वोटों से जीत कर पहली बार मुखिया बनी है।

इस पंचायत में भी मुखिया पद के लिए घमासान मचा था। पूर्व विधायक की प्रतिष्ठा से चुनाव परिणाम जुड़ा हुआ था। सांगा पंचायत सुरक्षित सीट से मुखिया के लिए भाजपा दक्षिणी प्रखंड अध्यक्ष पूरनलाल टूडू की पत्नी पूजा मूर्मू ने चुनावी मैदान में बाजी मारी है। पुराने मुखिया में सांपडहर पंचायत से सरगुन यादव, फागा पंचायत से हरिहर यादव, कुडऱो पंचायत से जयशंकर रवि, असनाहा पंचायत से भरत मंडल ही चुनाव जीतने में सफल हो पाए हैं। कई पंचायत में माननीय परदे के पीछे से उम्मीदवार को मदद कर रहे थे। जिसमें वे कामयाब भी रहे। इधर, जीत एवं हार के बाद कहीं खुशी कहीं गम का माहौल है।

जीते हुए उम्मीदवारों के समर्थकों में खुशी का माहौल है तो हारे हुए उम्मीदवारों के समर्थकों में मायूसी छाई हुई है। बाजार से लेकर ग्रामीण क्षेत्रों तक विभिन्न जीते हुए पंचायत प्रतिनिधियों के समर्थक अबीर गुलाल लगाकर एवं मिठाई बांटकर खुशियां मनाई। प्रखंड क्षेत्र में देर रात तक जश्न का माहौल रहा। जिला परिषद की दो सीट से इस बार दोनों नए चेहरे चुनाव जीत कर आए हैं। उत्तरी सीट से दृष्टि कुमारी एवं दक्षिणी सीट से युवा अमर कुमार हेंब्रम चुनाव जीते हैं। विजयी उम्‍मीदवार के समर्थक लगातार जश्‍न मना रहे हैं। 

Edited By: Dilip Kumar Shukla