संवाद सूत्र, कटिहार। Flood Is Back: जिले के प्राणपुर में महानंदा नदी के जलस्तर में लगातार वृद्धि होने से आधा दर्जन गांवों के चारों ओर बाढ़ का पानी फैल गया है। जिस कारण ग्रामीणों का आवागमन पूरी तरह अवरुद्ध हो गया है। ऐसे में ग्रामीणों के आवागमन का एक मात्र साधन नाव ही रह गया है। जिस कारण लोगों को आवागमन करने में काफी परेशानी उठानी पड़ रही है। वही लाभा दियारा क्षेत्र में कलाई की फसल के साथ साथ सब्जी की फसल भी पूरी तरह डूब चुकी है। क्षेत्र के किसान दियारा क्षेत्र में गेहूं, मकई की फसल की बुआई को लेकर अपने खेत में जुताई का कार्य पूरा कर लिया था।

पानी होने से किसानों को काफी नुकसान हुआ है। क्षेत्र के जल्लाहरेरामपुर, ग्रामदेवती, गजहर, भरतकोल, लालगंज हरिजन टोला गांव के चारों तरफ बाढ़ का पानी फैल गया है। ज्ञात हो कि प्राणपुर में 24 अक्टूबर को पंचायत चुनाव को लेकर मतदान होना है। वोटरों को अपने बूथ तक आने जाने में अब काफी परेशानी का सामना करना पड़ेगा। मतदान केंद्र तक जाने के लिए वोटरों को नाव का सहारा लेना पड़ेगा।

यहां जारी है कटाव

  • शिकारपुर पंचायत में प्राथमिक विद्यालय माहीनगर का भवन कटाव की भेंट चढ़ गया है।
  • इसके अलावे वहां पर अरुण राय, वरुण राय, रूपेश राय, अनिता देवी, कालीपद राय, हरिमोहन रजक, बिरेन रजक, सईदुल सहित 15 लोगों का घर नदी में विलीन हो चुका है।
  • यहां की तैयबपुर पंचायत के रैयापुर, शेखपुरा पंचायत के मंझोक, गमहार गाछी में भी भीषण कटाव हो रहा है।

कटिहार के कदवा प्रखंड के धनगमा शिकारपुर, शेखपुरा, तैयबपुर पंचायत स्थित कई गांवों में प्राथमिक विद्यालय माहीनगर के अलावे डेढ़ दर्जन परिवारों का घर नदी के कटाव में विलीन हो चुके हैं। नदी के कटाव को देखते हुए लोगों में भय एवं दहशत का माहौल है। लोग घर द्वार छोड़ कर पलायन को विवश हैं। गत कई दिनों से हुई वर्षा के बाद अचानक महानंदा के जलस्तर में वृद्धि होने से आधे दर्जन से अधिक पंचायतों के निचले इलाकों में बाढ़ का पानी फैल गया है।

Edited By: Shivam Bajpai