जागरण संवाददाता, भागलपुर। मैंने भागलपुर को अपनी आंखों के सामने सजते संवरते देखा। अब एक बार फिर से भागलपुर को स्मार्ट सिटी बनाने की कवायद की जा रही है। मैं भी खुशी से झूम रही थी, लेकिन शहर को स्मार्ट बनाने के लिए मेरी ही गर्दन चुन ली गई। मुझे अपनी बली लिए जाने का न ही अफसोस है और न ही गम। यह पीड़ा है लगभग डेढ़ सौ वर्ष तक सैंडिस कंपाउंड के एक किनारे पर खड़े कुसुम के पेड़ की।

हवाओं के झोंके के साथ कभी झूमने वाले कुसुम के पेड़ की जड़ के चारों ओर से मिट्टी हटा दी गई। अब कुसुम अंतिम सांस ले रही है। कुसुम ने अपने छांव में लोगों को खुशी से चहकते देखा, तो लोगों की सिसिकियां भी सुनी। कुसुम की पीड़ा यही है कि अब लोग उसकी छांव में अपना दुख दर्द भुलाने नहीं पहुंचेंगे।

कुसुम की पीड़ा को जुबान देते हुए बुजुर्ग प्रेम रंजन चौधरी ने कहा कि आजादी के पूर्व इस पेड़ की छांव में बैठ कर कभी जिला जज फैसला सुनाते थे। यह पेड़ गवाह है कई लोगों को इंसाफ मिलने के बाद उनके चेहरे पर आई खुशी का। स्वतंत्रता संग्राम के दौरान आजादी के दीवानों पर दमन के लिए दिए क्रूर फैसलों का। आजादी के बाद भी सैंडिस कंपाउंड आने वाले लोग कुसुम के पेड़ की छांव के नीचे आराम करते नजर आते थे। कुसुम की पेड़ की पीड़ा है कि सरकार जल जीवन हरियाली अभियान चल रही है। पौधे लगाने पर करोड़ों रुपये खर्च किए जा रहे हैं। दूसरी तरफ विकास के नाम पर मेरी गर्दन ही चुन ली गई। मुझे हटा कर स्वीमिंग पुल बनाए जाएंगे।

स्वीमिंग पुल में युवा तैराकी का अभ्यास करेंगे। ओलिपिंक जैसी स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीतने के सपनों को भी आकार देंगे। मुझे आपत्ति भी नहीं है। अगर स्वीमिंग पुल के बगल में मुझे भी थोड़ी सी जगह हुक्मारान दे देते, तो शायद मैं भी उन सपनों को जीवंत होते देखने का सुख पाता। स्वीमिंग पुल का सुंदीकरण मेरी वजह से बढ़ेगा, घटेगा नहीं। काम करा रही कंपनी के सुपरवाइजर का कहना है कि बिना पेड़ के काटे स्वीमिंग पुल नहीं बन पाएगा।

स्वीमिंग पुल व टेनिस कोर्ट बनेगा

स्वीमिंग पुल व टेनिस कोर्ट के नाम पर 68 पेड़ अभी तक काटे जा चुके हैं। इसके एवज में स्मार्ट सिटी ने वन विभाग को पांच लाख से अधिक रुपये जमा किए हैं। यूकीलिप्टस के पेड़ जब काटे जा रहे थे, तब किसी को कोई एतराज नहीं था। लेकिन कुसुम का पेड़ कटने का हर कोई अंदर ही अंदर विरोध जता रहे हैं। जिस जगह से पेड़ काटे गए हैं, उस जगह पर स्वीमिंग पुल की लंबाई 50 मीटर और चौड़ाई 25 मीटर होगी। यह स्टेडियम के उत्तर में बनाया जा रहा है। इसके ठीक बगल में टेनिस कोर्ट बनेगा। सैंडिस कंपाउंड में निर्माण कार्य करा रही एजेंसी सिंघल कंपनी के एक सुपरवाइजर ने बताया कि स्वीमिंग पुल का कुल एरिया 75 मीटर लंबाई और 25 मीटर चौड़ाई में होगा। अगले पांच महीने में स्वीमिंग पुल तैयार करने की योजना बनाई गई है।

Edited By: Dilip Kumar Shukla