भागलपुर। शराब के विरुद्ध कार्रवाई में सुस्ती पर जिले में बड़ी कार्रवाई की है। जिले में गठित एंटी लीकर टॉस्क फोर्स (एएलटीएफ) में तैनात इंस्पेक्टर अजय कुमार सिंह को निलंबित कर दिया गया है। यह कार्रवाई डीआइजी सुजीत कुमार ने एसएसपी आशीष भारती की अनुशंसा पर की है। कार्य में लापरवाही के अलावा इंस्पेक्टर पर कई बार स्पष्टीकरण का जवाब नहीं देने व समीक्षा के लिए गोपनीय में बुलाए जाने के बाद एसएसपी से अनुशासनहीनता समेत अन्य लापरवाही का आरोप है। 72 दिनों में 15 दिन ही निकले छापेमारी में

एंटी लीकर टॉस्क फोर्स केवल शराब से संबंधित मामलों के लिए ही बनाया गया है। बावजूद इसके 10 फरवरी से 20 अप्रैल की अवधि में एएलटीएफ ने मात्र 15 दिन ही शराब के विरुद्ध छापेमारी की। इस लेकर एक जून को उन्हें एसएसपी ने अनुशासनिक कार्रवाई के विरूद्ध तीन दिनों में स्पष्टीकरण देने को कहा। उन्होंने स्पष्टीकरण नहीं दिया। जून माह में भी एक से 19 जून तक केवल पांच दिन ही छापेमारी के लिए निकले। मुख्यालय के निर्देश पर 15 जून से 25 जून तक शराब के विरुद्ध विशेष अभियान चलाया गया, लेकिन एएलटीएफ द्वारा केवल आठ लीटर देसी शराब बरामद की गई। जिस पर मुख्यालय ने भी नाराजगी जाहिर की। बिना सूचना मुख्यालय से रहते हैं बाहर

अजय कुमार सिंह को 28 जनवरी को एएलटीएफ का इंचार्ज बनाया गया था। इनके बारे में एसएसपी को सूचना मिली थी कि वे भागलपुर में तैनात रहते हैं। लेकिन अक्सर पूर्णिया और नवगछिया में रहते हैं। वहीं से आना जाना करते हैं। बगैर सूचना ही मुख्यालय से बाहर रहते हैं। उक्त सारे मामले के बाद एसएसपी ने 19 जून को गोपनीय में मद्य निषेध को लेकर समीक्षा रखी। वे वर्दी में तो आए लेकिन बगैर टोपी के पहुंचे और शर्ट का बटन खुला हुआ था। जब उन्हें एएलटीएफ के रिकार्ड के बारे में पूछा तो इंस्पेक्टर ऊंची आवाज में अनाप-शनाप बोलने लगे। गलत शब्दों का इस्तेमाल किया। चलेगी विभागीय कार्रवाई

एसएसपी ने डीआइजी को एएलटीएफ के इंस्पेक्टर पर कार्रवाई को लेकर अनुशंसा की। इस लेकर डीआइजी ने भी इंस्पेक्टर से स्पष्टीकरण मांगा, लेकिन जवाब असंतोषजनक पाया गया। डीआइजी ने इंस्पेक्टर को निलंबित करते हुए विभागीय कार्रवाई चलाने का आदेश दिया है। निलंबन अवधि में उनका मुख्यालय पुलिस केंद्र भागलपुर होगा।

--------------------

कोट :

शराब के विरुद्ध अभियान में किसी तरह की लापरवाही और अनुशासहीनता बर्दाश्त नहीं की जाएगी। इस लेकर ही एंटी लीकर टॉस्क फोर्स के प्रभारी पर कार्रवाई की गई है।

- सुजीत कुमार, डीआइजी भागलपुर

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस