भागलपुर, जेएनएन। विश्व हिंदू परिषद अब प्रवासी मजदूरों व किसानों के बीच गोवंश आधारित कृषि प्रशिक्षण देकर रोजगार से जोडऩे का काम करेगा। परिषद के अंतरराष्ट्रीय महामंत्री मिलिंद परांडे ने कहा कि कोरोना जैसी महामारी के बाद देश को आत्मनिर्भर बनाने की बड़ी चुनौती सामने आई है।

श्री परांडे मंगलवार को भागलपुर के खलीफाबाग स्थित एक शिक्षण संस्थान में प्रेस को संबोधित कर रहे थे। हालांकि एक दिवसीय भागलपुर प्रवास के दौरान उन्होंने संगठन के कार्याकर्ताओं से मुलाकात की। आगामी विधान सभा चुनाव के मद्देनजर उनका प्रवास महत्वपूर्ण माना जा रहा है। विधानसभा चुनाव के मुद्दे पर पूछे गए सवाल पर इशारे में कहा हिंदू हित सोचने वाली सरकार बिहार में बने यह उनका प्रयास है।

चीन के मुद्दे पर कहा कि संपूर्ण देश में चीनी वस्तुओं बहिष्कार का किया जाएगा। घर घर जाकर चीनी सामान के बहिष्कार के बारे में समाज का जागरण परिषद करेगा। साथ ही कोरोना के दौरान विश्व हिंदू परिषद के द्वारा किए गए कार्यों के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि दक्षिण बिहार प्रांत में 25 हजार से भी अधिक परिवार में सूखे भोजन सामग्री  का वितरण किया गया। इस कार्य में 1,100 कार्यकर्ता लगे, लगभग 300 से भी अधिक स्थान पर सेवा कार्य प्रांत के सभी जिलों में किया गया। वैसे देश भर में विश्व हिंदू परिषद के माध्यम से एक करोड़ 4 हजार से भी अधिक लोगों को भोजन तैयार करके खिलाया गया। उन्होंने कहा कि आगे आवश्यकतानुसार सेवा कार्य चलता रहेगा।

रामजन्म भूमि के मुद्दे पर कहा कि वहां समतलीकरण का कार्य चल रहा है और हिंदू समाज के अपेक्षाओं के अनुरूप भगवान का भव्य मंदिर जल्दी खड़ा हुआ दिखेगा। उन्होंने कहा कि मंदिर निर्माण के लिए यदि राशि की जरूरत पड़ेगी तो परिषद सभी से धन की मांग करके मंदिर निर्माण कराएगा। उसमें सरकार के धन की जरूरत नहीं है। इसके बाद उन्होंने एनआरसी के मुद्दे पर कहा कि कुछ लोग इसकी आड़ में देश में हंगामा करना चाहते हैं, लेकिन उनकी मंशा सफल नहीं होगी। परिषद हिंदू शरणार्थियों का तलाश करके भारत की नागरिकता दिलाएगा। इसके लिए काम शुरू हो गया है।

प्रेस वार्ता में क्षेत्र संगठन मंत्री केशव राजूजी, केंद्रीय न्यासी हंसराज जैन, प्रांत सह संगठन मंत्री चितरंजन, विभाग मंत्री पारस शर्मा, विभाग संपर्क प्रमुख राकेश सिन्हा, जिला मंत्री मनीष साह, महानगर मंत्री सुमित जिलोका, बजरंग दल महानगर संयोजक रोहित रजक, मातृशक्ति सह संयोजिका महानगर मनीषा केसान सहित अनेक कार्यकर्ता उपस्थित थे। इससे पूर्व उन्होंने मातृ शक्ति, व्यवसाई वर्ग और सेवाटोली के साथ बैठक की। इसके बाद वे जैन मंदिर गए। एक दिवसीय प्रवास संपन्‍न होने के बाद वे यहां से झारखंड के लिए रवाना हो गए।

 

Posted By: Dilip Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस