भागलपुर। जोगसर में रविवार को गांजा और नकदी के साथ पकड़ी गई रेशमी देवी उर्फ रश्मि अपनी सास मीरा देवी और देवर गोपी ठाकुर के साथ गांजा तस्करी करती थी। इस बात की जानकारी रेशमी ने पूछताछ में पुलिस को दी है। उसने इस धंधे में शामिल और भी कई लोगों के नाम बताए हैं, जिनकी तलाश में पुलिस है।

जोगसर चौकी इंचार्ज विश्वबंधु कुमार ने अपने बयान पर उक्त तीनों पर नामजद और कई अज्ञात को आरोपित किया है। उनके उपर एनडीपीएस एक्ट के तहत केस दर्ज किया गया है। रेशमी को सोमवार को जेल भेज दिया है।

देवर और सास करते हैं मैनेज

पुलिस को रेशमी ने बताया कि गांजा तस्करी में उसकी सास और देवर गोपी ठाकुर सारा कुछ मैनेज करते थे। वे लोग ही गांजा बाहर से मंगाते थे। वह केवल घर पर केवल बिक्री करती थी, जो भी रुपये और सोने के जेवरात पकड़े गए हैं, वो सास का है। रेशमी की गिरफ्तारी के बाद देवर और सास फरार हैं। वहीं, रोहित नाम के व्यक्ति को भी पुलिस ढूंढ रही है, जो गांजा तस्करी कर रही महिला से पुलिस के नाम पर रुपये की उगाही करता था। दुकानों में भी देती थी सप्लाई

रेशमी देवी गांजा से भरी सिगरेट की सप्लाई दीपनगर छोड़कर अन्य गुमटियों में भी देती थी। पुलिस की जांच में और भी कई चौंकाने वाली जानकारियां सामने आई हैं। दरअसल, रेशमी ने बताया कि उन लोगों ने होली के मद्देनजर गांजा की बड़ी खेप मंगाई थी, जिसे सिगरेट में भरने के बाद अलग-अलग गुमटियों व चाय दुकानदारों को उपलब्ध कराया जाना था। रेशमी ने सिगरेट में गांजा भरने के लिए कई लड़कों को भी रखा था, उसकी जानकारी पुलिस जुटा रही है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस