बेगूसराय। दूरदर्शन सहित अन्य आनलाइन प्लेटफार्मों पर 17 जनवरी से आरंभ हुई कक्षाओं को लेकर दैनिक जागरण द्वारा पहले दिन की जमीनी पड़ताल पर आधारित खबर प्रकाशित होने के बाद शिक्षा विभाग एक्टिव हो गया। विभागीय पदाधिकारियों ने आनन-फानन में जिले के सभी बीईओ को अलर्ट मोड में करते हुए इसकी निगरानी का आदेश दिया। सर्वशिक्षा एवं प्रारंभिक शिक्षा के जिला कार्यालय में एक टीम एक्टिव की गई, जो प्रथम से लेकर तीसरे सत्र तक में आयोजित हुई कक्षाओं को ज्वाइन करने वालों की तस्वीरें मंगवाई गई। कई स्कूल के शिक्षकों का वीडियो भी क्षेत्र में गृहभ्रमण कर मार्गदर्शन कराने का मंगवाया गया, हालांकि इतनी कार्रवाई के बाद भी कसर बाकी रहा।

ग्रामीण क्षेत्रों में एक्टिव, शहर में सुस्त दिखे शिक्षक :

खबर प्रकाशित होने के बाद शिक्षाधिकारियों के एक्टिव होने के बाद जहां ग्रामीण क्षेत्रों में आनलाइन कक्षाओं के साथ गृह भ्रमण का असर दिखा तो वहीं शहरी क्षेत्र में दूसरे दिन भी शिक्षकों में इसको लेकर वह उत्साह नजर नहीं आया, जिस उत्साह के साथ विभागीय पदाधिकारी लगे हुए थे। शहर के बीएसएस कालेजिएट के निकट झोंपड़पट्टी के निकट बच्चे कक्षा छोड़कर खेलते दिखे। हालांकि फोटो लेते देख बच्चे घरों में भाग गए, जब उनसे शिक्षकों के आने के बारे में पूछा गया तो जवाब मिला कोई नहीं आया है। स्कूल और इस टोले के बीच महज एक सड़क का फासला है। बोले समग्र शिक्षा के संभाग प्रभारी

समग्र शिक्षा जिला कार्यालय के संबंधित संभाग प्रभारी रंजन कुमार ने बताया कि पहले दिन के मुकाबले दूसरे दिन आनलाइन वर्ग का काफी संख्या में विद्यार्थियों ने लाभ उठाया है। सुदूर ग्रामीण क्षेत्रों में भी इसको लेकर जागरुकता फैलाई गई है, हर जगह बच्चे आनलाइन क्लास से जुड़े हैं। मगर थोड़ी कसर बाकी है। उम्मीद के अनुसार हम बच्चों तक नहीं पहुंच पा रहे हैं, हालांकि जिला से लेकर संकुल तक के पदाधिकारी पूरी तत्परता से इस कार्य में लगे हुए हैं।

Edited By: Jagran