बांका। आरक्षण रोस्टर का अनुपालन नहीं करने पर शिक्षा विभाग ने जिला के चार पंचायतों की शिक्षक बहाली के चयन को रद घोषित कर दिया है। शिक्षक बहाली रद होने वाले पंचायतों में चांदन प्रखंड का दो तथा कटोरिया और रजौन का एक-एक पंचायत शामिल है। इसमें करीब दो दर्जन शिक्षकों की बहाली होनी थी। चांदन प्रखंड का चांदन और पश्चिमी कटसकरा पंचायत, कटोरिया का कोल्हासार पंचायत तथा रजौन के सकहरा पंचायत की शिक्षक बहाली को रद करने का आदेश डीईओ देवेंद्र कुमार झा तथा डीपीओ स्थापना पवन कुमार ने शनिवार को जारी कर दिया है। कोल्हासार की बहाली कैंप के ही दिन हंगामा और रजिस्टर फाड़ने के कारण रोक दी गई थी। पंजी फाड़ने पर दोषी आवेदक के खिलाफ पंचायत सचिव ने केस दर्ज कराया था। लेकिन बाकी तीन पंचायतों की बहाली आरक्षण रोस्टर का अनुपालन नहीं करने के कारण हुआ है। आरक्षित कोटि पर सामान्य कोटि के आवेदक का चयन करने या फिर किसी अन्य कोटि के आवेदक का चयन होने पर इस बहाली को रद किया गया है। धोरैया प्रखंड के गचिया बसबिट्टा पंचायत की बहाली पर भी जांच चल रही थी। यहां भी कुछ गड़बड़ी सामने आई थी। एक ही सीट पर दो आवेदक का चयन कर लिया गया था। लेकिन बाद में चयनित आवेदक में कम मेधा अंक वाले आवेदक को चयन सूची से बाहर कर देने पर बसबिट्टा की बहाली बच गई है।

--------------------

कई पंचायत के चयन की हो रही जांच

आरक्षण रोस्टर अनुपालन में गड़बड़ी पर चार पंचायत की बहाली रद हो चुकी है। मामला यहीं नहीं रूका है। अभी आवेदकों से प्राप्त शिकायत के आलोक में भी शिक्षा विभाग जांच कर रही है। इन पंचायतों के आवेदक ने कम मेधा अंक वालों का चयन कर लेने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा है कि उनकी मौजूदगी के बाद भी नियोजन समिति ने उनका काउंसिलिग के लिए पंजीयन नहीं किया। कुछ ने मेधा सूची में गड़बड़ी की शिकायत की है। जिलास्तर के अधिकारियों से प्राप्त आवेदनों की जांच कराई जा रही है। इसमें गड़बड़ी सामने आने पर अभी कुछ और पंचायतों की बहाली पर विराम लग सकता है।

----------------------

कोट

आरक्षण रोस्टर की गड़बड़ी पर तीन पंचायत की बहाली को विभागीय आदेश पर रद कर दिया गया है। कटोरिया के कोल्हासार की बहाली कैंप के ही दिन पंजी क्षतिग्रस्त होने के कारण रोक दी गई थी।

पवन कुमार, डीपीओ स्थापना, शिक्षा विभाग

Edited By: Jagran