बांका। रसोइयों की हड़ताल के कारण तकरीबन 30 हजार छात्र-छात्राएं एमडीएम से वंचित है। हालांकि विभाग ने वैकल्पिक व्यवस्था के तहत एमडीएम संचालन का निर्देश सभी प्रधानाध्यापक एवं प्रभारी प्रधानाध्यापक को दिया है। शुक्रवार को 25-30 प्रतिशत स्कूलों में बच्चों को एमडीएम दिया गया। वहीं कुछ जगहों पर स्वेच्छा से भी रसोइया एमडीएम बना रही है। उम्मीद जताई जा रही है कि सोमवार तक सभी स्कूलों में वैकल्पिक व्यवस्था के तहत एमडीएम संचालन शुरू हो जाएगी। प्रखंड के कुल 167 स्कूलों में एमडीएम संचालन होता है। जिसके लिए 392 रसोइया है। विगत तीन दिनों से मानदेय वृद्धि, सेवा स्थायीकरण, सेवाकाल दौरान मौत पर आश्रितों को अनुकंपा के आधार पर नौकरी देने आदि मांगों को लेकर रसोइया अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चली गई है। बीईओ तुषारकांत ¨सहा ने बताया कि वैकल्पिक व्यवस्था के तहत एमडीएम संचालन का निर्देश जारी कर दिया गया है। कुछ जगहों पर शुक्रवार को एमडीएम संचालित भी किया गया। आदर्श मध्य विद्यालय गोरगामा सहित लगभग दो प्रतिशत स्कूलों में रसोइया ने एमडीएम बनाया।

Posted By: Jagran