बांका। रालोसपा के प्रदेश अध्यक्ष सह पूर्व सांसद भूदेव चौधरी ने कहा कि दलितों को डमी के रूप में दबंग इस्तेमाल करते हैं। उन्होंने संगठित होने की अपील की। प्रदेश अध्यक्ष नगर भवन में आयोजित अतिपिछड़ा प्रकोष्ठ के सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। सम्मेलन में उन्होंने आने वाले लोक सभा चुनाव के लिए अभी से कार्यकर्ताओं को जुट जाने की नसीहत दी। कहा कि किसी के बहकावे में नहीं आना है। रालोसपा हमेशा दबे कुचले लोगों के लिए आवाज उठाती है। रालोसपा के केंद्रीय अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा के हाथों के और मजबूती प्रदान करना ही हमारा सच्चा कार्य होगा। कार्यक्रम की अध्यक्षता प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष विरेंद्र कुमार ¨सह ने की। कहा कि अध्यक्ष के द्वारा कही हर बात पार्टी के कार्यकर्ताओं लिए एक मंत्र है। इससे पहले रालोसपा के दर्जनों कार्यकर्ताओं ने माला पहना कर प्रदेश अध्यक्ष का स्वागत किया। मौके पर पूर्व मंत्री सुरेंद्र कुशवाहा ने कहा कि आरक्षण का मुद्दा अभी पूरे देश में छाया हुआ है। ऐसे में सरकार को सोच समझ कर फैसला लेने की जरूरत है। पाटी जिलाध्यक्ष शैलेंद्र कुमार ¨सह मंटू ने कहा कि चुनाव में अतिपिछड़ा ही सरकार की दशा और दिशा तय करेगा। रालोसपा नेता विपिन कुशवाहा ने कहा कि इस देश में बीस प्रतिशत दलित की आबादी है। ऐसे में उन्हें अपने अधिकार लेने के लिए आंदोलन करने की जरूरत है। सम्मेलन को कई नेताओं ने भी संबोधित किया। मौके पर राष्ट्रीय महासचिव अंगद कुशवाहा, पप्पू ¨सह, हिमांशु पटेल, उर्मिला पटेल, बेलाल राजा, जितेंद्र नाथ, लक्ष्मी पासवान, क्रांति कुशवाहा, कैलाश कामती, सुमीत कुमार, सुरेश साहा, उदय कुमार ¨सह, उमाशंकर ¨सह, मनीष चौबे, मनीष कुमार, हेमंत कुमार सहित अन्य कई गणमान्य उपस्थित थे।

Posted By: Jagran