बांका। गुरु पूर्णिमा पर शनिवार को कई स्थानों पर कार्यक्रम का आयोजन हुआ। चमन साह सरस्वती विद्या मंदिर में जूम एप पर महर्षिं वेद व्यास की जयंती मनाई गई। विद्यालय के प्रधानाचार्य शैलेन्द्र कुमार ने कार्यक्रम की शुभारंभ की। उन्होंने गुरु शिष्य की परंपरा पर प्रकाश डाला। कहा गुरु अपने शिष्य को हर बुराईयों से बचाने का प्रयास करता है। आचार्य विनोद कुमार, रसिक लाल यादव, आकाश कुमार, विनीत कुमार सिंह, दिलीप झा, अर्चना रारहंस सहित अन्य थे। संचालन तृप्ति नाथ झा ने किया। इधर, विवेकानंद केंद्र कन्याकुमारी शाखा ने परिसदन रोड विजय नगर में गुरु पूर्णिमा मनाया। भागलपुर विभाग के जीवन वृति कार्यकर्ता धर्मदास ने कार्यक्रम की शुरुआत की। संस्थान के आदर्श सहित देश के नाम संदेश निवेदिता दीदी का पत्र सभी पढ़कर सुनाया गया। जिला संयोजक विश्वजीत कुमार सिंह ने गुरु की महिमा पर विस्तार से चर्चा की। कार्यक्रम में सुभाष प्रसाद सिंह, राजू सिन्हा, विपिन कुमार सिंह, संजीव कुमार सिंह, पुष्कर आनंद, सुधीर प्रसाद, सीमा देवी, आरुषि, रंजू सिंह, लालमणि मिश्रा उपस्थित थे। कार्यक्रम का समापन कार्यालय प्रमुख राघवेंद्र सिंह द्वारा शांति मंत्र से हुआ।

फुल्लीडुमर: गायत्री ज्ञान मंदिर में गायत्री परिवार के प्रखंड प्रमुख नकुल पंडित के नेतृत्व में कई दीप यज्ञ, हवन, सत्संग समेत कई अन्य अनुष्ठान आयोजित की गई। प्रखंड प्रमुख ने बताया कि गुरु पूर्णिमा के दिन गुरु की पूजा की जाती है। उनके अनुसार गुरु की महिमा अपार है। इनकी पूजा प्रतिदिन की जाती है। आयोजन में फूल कुमार दास, शांतनू कुमार, योगेंद्र यादव, मोहन मंडल, लोकेश मिश्रा, सुनील साह, सुलोचना देवी, सोनाली कुमारी, ममता देवी, अनिता कुमारी, कल्पना कुमारी, रीता देवी, मोनी देवी समेत दर्जनों ने भाग लिया।

बांका : आधुनिकता की परिवेश में ढल रही प्रवृत्ति में शिक्षक और शिष्य का परिभाषा बदलता जा रहा है। गुरु शिष्य के बीच टूटते संबंधों के कारण आज के एकलव्य को शिक्षक में द्रोणाचार्य की छवि नहीं दिख रही है। पीबीएस कालेज में आयोजित कार्यक्रम में वक्ताओं ने ये विचार रखा। वक्ताओं ने शिक्षा के लिए शिक्षक एवं शिष्य के रिश्ते को बेहतर बनाने पर जोर दिया। साथ ही कोरोना महामारी के इस दौर में योग के महत्व पर प्रकाश डाला गया। पीवीएस कालेज में राष्ट्रीय सेवा योजना एन एस एस एवं विवेकानंद केंद्र कन्याकुमारी शाखा ने गुरु पूर्णिमा के मौके पर योग शिविर सह गुरु शिष्य संबंधों पर परिचर्चा का आयोजन किया। जिसमें महाविद्यालय के प्राचार्य प्रो श्यामसुंदर ठाकुर, एनएसएस कार्यक्रम पदाधिकारी प्रो राजेंद्र कुमार, डा. सुमन कुमार, डा. सुमन कुमार, पुलकित कुमार मंडल, देवानंद कुमार सहित अन्य ने अपने मंतव्य रखें। मंच का संचालन प्रो विश्वजीत कुमार सिंह ने किया।

बौंसी: परमेश्वर लाल खेमका सरस्वती शिशु विद्या मंदिर में महर्षि वेदव्यास की जयंती मनाई गई। उद्घाटन प्रबंध कारिणी समिति के कोषाध्यक्ष जलधर प्रसाद, उपाध्यक्ष डा सीताराम घोष, अभिभावक प्रतिनिधि अनीता झा एवं प्रधानाचार्य संजीव कुमार झा द्वारा संयुक्त रूप से दीप जलाकर किया गया। कार्यक्रम में आचार्य विजय कुमार झा ने कहा कि गुरु हमें अंधकार से प्रकाश की ओर ले जाते हैं। आचार्य हरि किशोर पंडित ने कहा कि ज्ञान ध्यान कर लोग भगवान ब्रह्मा और शंकर के समान भी हो जाएं फिर भी गुरु के बिना इस संसार सागर से पार उतरना संभव नहीं है। मौके पर प्रधानाचार्य संजीव कुमार झा ने भी गुरु के महत्व पर विस्तार पूर्वक प्रकाश डाला।

कटोरिया: विभिन्न शिव मंदिर में भक्तों ने की पूजा। भगवान शिव को फूल, बेलपत्र, अक्षत, रोड़ी, प्रसाद चढ़ाया। क्षेत्र के कटोरिया बाजार के ठाकुरबाड़ी, बाघमारी गांव के समीप बाबा बागेश्वरनाथ धाम, पहाड़िया मंदिर, जमदाहा ठाकुरबाड़ी, सुड़ियाझाझा मंदिर में पूजा अर्चना की गई।

Edited By: Jagran