बांका। मतदान के दिन पांच बार आयोग की वेबसाइट पर मतदान फीसद का प्रसारण किया जाएगा। यह व्यवस्था राज्य निर्वाचन आयोग के निर्देश पर लागू की जा रही है। इस प्रसारण को लोग जिला प्रशासन की वेबसाइट या आयोग की वेबसाइट पर देख सकते हैं।

पहला मतदान फीसद का प्रसारण सुबह नौ बजे उसके बाद 11 बजे, इसके बार एक बजे, तीन बजे और शाम पांच बजे पूरा मतदान फीसद और कितने मतदाताओं ने मतदान किया इसका प्रसारण किया जाएगा। जिला पंचायती राज पदाधिकारी रंजन कुमार चौधरी ने बताया कि आयोग के निर्देश पर स्वच्छ और पारदर्शी चुनाव संपन्न कराने के लिए नई तकनीक का इस्तेमाल किया जा रहा है। मतदान शुरू होने के दो घंटे के अंतराल पर मतदान फीसद का प्रसारण किया जाएगा।

--------

निष्पक्ष मतगणना के लिए ओसीआर मशीन से रखी जाएगी नजर

प्रत्येक टेबल पर आप्टिकल कैरेक्टर रिकगनईजेशन यानी ओसीआर मशीन लगाई जाएगी। जो प्रत्याशियों को मिलने वाले वोट पर नजर रखेगी। मतगणना के समय किस प्रत्याशी को कितने मत मिले इसकी जानकारी मशीन के माध्यम से चुनाव आयोग को हो जाएगी। मतगणना की सीधी बेवकास्टिग होगी। इसका मुख्य उद्वेश्य किसी भी प्रकार की गड़बड़ी की आशंका को दूर करना है।

---------

ओसीआर मशीन ऐसे करेगा काम

मतगणना में ओसीआर मशीन का इस्तेमाल किया जाएगा। यह मशीन ईवीएम से कनेक्ट रहेगी। ईवीएम में गिनती के समय स्वत:मशीन उसे कैच कर लेगी। उसी प्रकार बैलेट बाक्स में पड़े मतों की मशीन के जरिए वीडियो रिकार्डिंग हो जाएगी। इससे जानकारी मिल जाएगी की किस प्रत्याशी को कितना मत मिला। यदि कोई प्रत्याशी मतगणना में किसी प्रकार की गड़बड़ी की शिकायत करता है तो मशीन जांच में सहायक होगी। वैसे तो ईवीएम मशीन में डाले गए वोट सुरक्षित रहते है। इसे दोबारा देखा जा सकता है। पहली बार पंचायत चुनाव ईवीएम और बैलेट बाक्स के माध्यम से हो रहा है। इसलिए नई तकनीक कारगर साबित होगी।

--------

मोबाइल एप से दर्ज होगी उपस्थिति

पंचायत चुनाव में इस बार पीठासीन पदाधिकारियों को अपनी उपस्थिति मोबाइल एप के जरिए दर्ज कराएंगे। उन्हें अपने एंड्राइड मोबाइल पर मतदान के पहले एप की जानकारी दी जाएगी। एप में पीठासीन पदाधिकारी यह भी जानकारी देंगे की उनके मतदाना केंद्र पर कितने दिव्यांग मतदाताओं ने वोट डाले और उन्हें क्या सहायता दी गई। मतदान केंद्रों पर प्रत्याशियों के कितने अभिकर्ता पहुंचे है यह भी जानकारी दी जाएगी।

Edited By: Jagran