बांका। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार आज मंदार में नौ करोड़ 18 लाख 51 हजार की राशि से बने बिहार का दूसरा रोपवे का उद्घाटन करेंगे। इसके साथ ही करीब 18 एकड़ भूमि पर मंदार जैव विविधता पार्क का भी शिलान्यास करेंगे। रोप-वे उद्घाटन का समय 11.45 अपराह्न में निर्धारित की गई है। इस अवसर पर मुख्यमंत्री के साथ मुख्य रूप से डिप्टी सीएम तारकिशोर प्रसाद एवं रेणु देवी, पर्यावरण वन एवं जलवायु मंत्री नीरज कुमार सिंह बबलू, ग्रामीण कार्य मंत्री जयंत राज, पर्यटन मंत्री नारायण प्रसाद मौजूद रहेंगे। पर्यटन विभाग के सचिव संतोष कुमार मल्ल, डीएम सुहर्ष भगत सहित पर्यटन विभाग एवं जिला प्रशासन के पदाधिकारी हेलीपैड से लेकर पर्वत शिखर तक का चप्पे-चप्पे का निरीक्षण किया। पापहरणी घाट एवं रोप-वे मार्ग पर सजावटी गमलों के पौधे लगाए गए हैं। तीन तोरण द्वार बनाए गए हैं। रोप-वे के पाथ-वे पर बिहार पर्यटन द्वारा रंग बिरंगी 80 झंडा लगाया गया है। इसके अलावा सरकार की कल्याणकारी योजनाओं की 60 होर्डिंग लगाई गई है। विशिष्ट अतिथि के बैठने के लिए रेन शेल्टर के बगल में मार्डन टेंट लगाया गया है। जहां पर विशिष्ट अतिथि बैठकर मुख्यमंत्री के आने का इंतजार करेंगे। लोअर स्टेशन के ठीक सामने ग्रिल के हैंगर पर दो शिलापट्ट लगाया गया है। जिसका मुख्यमंत्री उद्घाटन एवं शिलान्यास करेंगे। एक शिलापट्ट मंदार रोप-वे उद्घाटन की है एवं दूसरा जैव विविधता पार्क शिलान्यास का है।मुख्यमंत्री हेलीपैड से उतरने के बाद सीधे रोप-वे उद्घाटन के बाद रोप-व केबिन में बैठकर डिप्टी सीएम के साथ पर्वत शिखर पर बने रोप-वे स्टेशन पर उतरेंगे। जहां स्टेशन के सामने पाथ-वे से होते हुए जैन मंदिर पहुंचेंगे। कुछ देर वहां रुकने के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार अन्य सहयोगी मंत्रियों के साथ पर्यटन आइबी में विश्राम कर अल्पाहार करेंगे।

--------

मंदार में सुरक्षा व्यवस्था चाक चौबंद

एसपी अरविद कुमार गुप्ता मुख्यमंत्री आगमन के पूर्व मंदार में सुरक्षा व्यवस्था का ब्रीफिग किया। हेलीपैड से लेकर पर्वत शिखर तक की सुरक्षा व्यवस्था की प्रतिनियुक्त पुलिस पदाधिकारियों को निर्देशित किया। सुरक्षा व्यवस्था के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। मजिस्ट्रेट के साथ पुलिस सशस्त्र जवानों की तैनाती की गई है।आम लोगों को उद्घाटन स्थल पर जाने के लिए रोक लगा दी गई है। शिलान्यास के बाद तीन साल तक इस पार्क का निर्माण कार्य पूरा हो जाएगा। प्रारंभिक कार्य में पार्क का सर्वेक्षण किया जाएगा। सर्वेक्षण करने के बाद घेराबंदी कर पौधे लगाए जाएंगे। 18 एकड़ के इस पार्क में विभिन्न दुर्लभ प्रकार के पेड़ पौधे को संरक्षित किया जाएगा। इस पार्क में कई प्रकार के पेड़ पौधे लगाए जाएंगे। इसके अलावा पानी को संरक्षित करने के लिए चेक डैम, तालाब का निर्माण किया जाएगा। स्थानीय लोगों को रोजगार के साथ कई प्रकार का लाभ भी मिलेगा। राजगीर के बाद मंदार बिहार का दूसरा रोप-वे वाला पर्यटन क्षेत्र होगा। इसके बाद पर्यटन विभाग द्वारा छह रोप-वे और स्वीकृत हो गया है। जिसका कार्य चल रहा है। पर्यटन विभाग के एमडी श्रीप्रभाकर ने बताया कि मुंडेश्वरी, रोहतास, बनाबर, ब्राह्ममोणी, प्रेतशिला एवं प्रयाग शामिल है। मंदार रोप-वे चालू होने से पर्यटन के क्षेत्र में मिल का पत्थर साबित होगा।

Edited By: Jagran