बांका। क्षेत्र के रामचुआ गांव में सड़क किनारे बगीचे में जीविका दीदी के मधु उत्पादन समूह में नशेड़ियों ने आग लगा दी। जिससे लाखों की संपत्ति का नुकसान हो गया। घटना को लेकर गुलाब जीविका समूह की अध्यक्ष सुजाता देवी ने मंगलवार को अज्ञात के खिलाफ थाना में शिकायत दर्ज करायी है।

जीविका दीदी ने बताया कि मुख्यमंत्री योजना के सतत जीविकोपार्जन के तहत बीएचओ द्वारा मधुमक्खी पालन के लिए मधु बॉक्स सहित अन्य उपकरण मुहैया कराया था। ताकि शहद उत्पादन कर आर्थिक उन्नति कर सके। इसके लिए गांव के ही किसान रामसेवक सिंह, कैलाश सिंह सहित अन्य किसानों की सहमति लेकर कुर्माडीह-तिलडीहा मार्ग के समीप बगीचे में मधु बॉक्स लगाए थे। बताया कि कुल 170 बक्से में सौ किलो से भी अधिक शहद तैयार हो गया था। दो -चार दिनों में शहद निकालने की तैयारी कर ही रहे थे कि इस बीच अगलगी की घटना हो गई। घटना के दिन बागवानी से घुमकर घर आए थे, तबतक गांव के कुछ लोगों ने आग लगने की जानकारी दी। जब तक दौड़कर बगीचा पहुंचते, आग की लपट काफी तेजी से फैल रही थी। घटना की जानकारी विभाग के अधिकारी को दी गयी। सूचना पर जब तक कि अग्निशमन की टीम पहुंचती, ग्रामीणों ने प्रयास कर आग पर काबू पाया। सुजाता देवी ने करीब सात लाख रुपये की संपत्ति के नुकसान होने की बात कही है। थानाध्यक्ष उमेश प्रसाद ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है।

-------

खिजुरमुरिया गांव में आग लगने से संपत्ति राख

संवाद सहयोगी, बौंसी (बांका): थाना क्षेत्र के खिजुरमुरिया गांव आदिवासी टोला में मंगलवार को आग लगने से हजारों की संपत्ति का नुकसान हो गया है । ग्रामीण शिक्षक अशोक कुमार ने बताया कि जॉन मुर्मू के घर में अचानक किसी तरह से आग लग गया। मौके पर स्थानीय लोगों की मदद से कुएं में मोटर लगा कर आग पर एक घंटे बाद काबू पाया गया। इस दौरान सूचना मिलने पर प्रखंड मुख्यालय से दमकल भी पहुंच गया और आग को पूरी तरह से बुझा दिया। पीड़ित ने बताया कि आग लगने से घर में रखे कपड़े ,अनाज ,बर्तन सहित अन्य समान जलकर राख हो गए। पीड़ित ने सीओ को आवेदन देकर मुआवजा की गुहार लगाई है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप