संवाद सूत्र, बेलहर (बांका): पंचायत चुनाव का मतदान नक्सल प्रभावित बेलहर प्रखंड में भी शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न हो गया। पुरुष मतदाताओं पर महिला मतदाता यहां भी भारी पड़ी। एक लाख 16 हजार 816 मतदाताओं में से 78 हजार 216 मतदाताओं ने मताधिकार का प्रयोग किया। इसमें 39 हजार 858 महिला और 38 हजार 358 पुरुष मतदाता शामिल हैं। मतदान के दिन सुरक्षा के कड़े इंतजाम रहे। नक्सल प्रभावित इलाकों में नक्सलियों की निगेहबानी के लिए एसएसबी की तीन कंपनियों को लगाया गया था। सभी बूथों पर स्टैटिक बल, डीएपी के महिला एवं पुरुष जवान और एक अधिकारी को सुरक्षा में लगाया गया था। मतदान से पूर्व बायोमीट्रिक मशीन पर मतदाताओं के अंगूठे के निशान और फोटो खींची जा रही थी। इसके बाद ही वोटिग के लिए अंदर जाने की इजाजत थी। हालांकि जिप सदस्य, मुखिया, पंसस, वार्ड पद के लिए अलग-अलग ईवीएम होने कई मतदाता उलझते नजर आए। बूथ संख्या 130, 131, 132 पर बायोमीट्रिक कर्मियों को मतदान दल द्वारा साथ बैठने की अनुमति नहीं दी जा रही थी। प्रशासन के सख्त निर्देश के बाद बैठाया गया। बूथ संख्या 185 सहित दो बूथों पर बैट्री खराब होने के चलते ईवीएम में गड़बड़ी आई। जिसे बदल दिया गया।

सुबह सात बजे निर्धारित समय पर मतदान शुरू हुआ। कुछ बूथों पर आधे घंटे तक के विलंब होने की सूचना मिली। शुरुआती दौर में मतदाताओं की संख्या बूथों पर कम दिखी, लेकिन नौ बजे के बाद मतदाताओं की भीड़ ने रफ्तार पकड़ी। नौ बजे तक 14.51 प्रतिशत मतदान हुआ था। 11 बजे तक 31.72 प्रतिशत मतदान हुआ। दोपहर एक बजे मतदान का प्रतिशत 49.07 तक पहुंच गया। शाम तीन बजे के बाद भी साहबगंज और बहोरना पंचायत के दो बूथों पर करीब पांच बजे तक मतदान जारी रहा। लौढि़या पंचायत के बूथ संख्या 56 लकराजोर स्कूल में मतदान काफी धीमी गति से चल रहा था। दोपहर 12 बजे तक छह सौ में से महज दो सौ वोट ही डाले गए थे। वहां साढ़े तीन बजे तक मतदान चला। संदेह के आधार पर मतदान केंद्रों के इर्द गिर्द घूमते हुए कुछ लोगों को हिरासत में लिया गया। जिसे कुछ ही देर बाद छोड़ दिया गया।

---------------------

नक्सल बूथों पर रही कड़ी निगरानी

अतिनक्सल प्रभावित बसमाता पंचायत पर प्रशासन की खास नजर रही। शांतिपूर्ण ढंग से मतदान संपन्न कराने के लिए विशेष जोनल दंडाधिकारी सह वरीय उपसमाहर्ता अजय कुमार, बेलहर एसडीपीओ प्रेमचंद सिंह पुलिस बलों के साथ वहां कैंप किए रहे। डीएम सुहर्ष भगत, एसपी अरविद कुमार गुप्ता ने गोरगामा सहित कुछ बूथों का निरीक्षण किया। इसके बाद कंट्रोल रूम सूचना एवं प्रद्योगिकी भवन में बैठ गए। डीडीसी रवि प्रकाश भ्रमणशील रहे। एएसपी अभियान अयोध्या सिंह बांका-जमुई एवं मुंगेर जिला सीमा पर नक्सलियों की निगरानी में बगधसवा, घोघा, बेला के पास लगाए गए एसएसबी की तीनों कंपनी का नेतृत्व कर रहे थे। पेट्रोलिग गाड़ियां भी सड़कों पर मतदान समाप्ति तक दौड़ती रही। चुनाव को लेकर बेलहर, साहबगंज, बसमाता, गोरगामा, बेलडीहा मोड़, जिलेबिया मोड़ बाजार को बंद करा दिया गया था। वाहनों की जांच के लिए थाना के समीप एमभीआई को लगाया गया था। नक्सलियों से लोहा लेने के लिए वज्र वाहन, जैमर वाहन को भी तैयार रखा गया था। बीडीओ सह प्रखंड निर्वाची पदाधिकारी राजीव रंजन ने बताया कि 66.96 प्रतिशत मतदान हुआ है। शांतिपूर्ण ढंग से मतदान संपन्न हो गया है। ईवीएम बांका में जमा करने के लिए ले जाया जा रहा है।

Edited By: Jagran