शहर में बारिश होने पर कई जगह फेंके गए कचरे कीचड़ में तब्दील हो जाता है। जिससे शहर की स्थिति नारकीय बन जाती है। शहर के सब्जी मंडी के पास बारिश होने पर सड़क नरक बन जाती है। स्थिति यह होती है कि सब्जी खरीदने के दौरान पैर रखने की जगह नहीं होती है। कचरे के ढेर से बदबू निकलते रहता है। दरअसल सब्जी विक्रेताओं एवं पास के दुकानदारों के द्वारा कचड़ा को सड़क पर फेंक दिया जाता है। जब बारिश होती है तब कचड़ा कीचड़ बन जाता है। सराय मोड़ सदर अस्पताल से लेकर मस्जिद तक सड़क कीचड़ बन जाता है। सड़क पर पैदल चलना मुश्किल हो जाता है। बस स्टैंड स्थित यात्री शेड, एचडीएफसी बैंक के सामने, सदर अस्पताल गेट के सामने समेत कई मोहल्लों में कचरे का ढेर लगा रहता है। कई जगहों पर नागरिकों को कचड़े के दुर्गंध से आवागमन करना मुश्किल हो जाता है। शहर के महाराजगंज रोड़ के मकान का निर्माण कराने वाले लोग मुख्य सड़क पर ही सामग्री गिराकर एवं वाहन मालिकों के द्वारा वाहन खड़ाकर सड़क को न सिर्फ अवरुद्ध किए रहते हैं बल्कि सामग्री से सड़क कीचड़मय बना रहता है। नागरिक शहर की सफाई व्यवस्था पर सवाल उठाते हैं। सड़क पर सामग्री गिराने वाले एवं वाहन मालिकों पर कोई कार्रवाई नहीं करने के लिए नगर परिषद के कार्यपालक पदाधिकारी से लेकर डीटीओ एवं नगर थाना पुलिस की कार्यशौली पर सवाल उठाते हैं। बता दें कि नगर परिषद के द्वारा कचरा डालने के लिए कई जगहों पर कूड़ादान रखा गया था परंतु कूड़ेदान में कचरा नहीं डाला जाता है।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस