औरंगाबाद। रफीगंज-कासमा पथ में रफीगंज से करीब एक किमी दूर तक सड़क तालाब बन गया है। सड़क का अस्तित्व समाप्त हो गया है। सड़क गड्ढों में तब्दील हो गया है। वाहन को कौन कहे पैदल चलना मुश्किल हो गया है। जलजमाव से आवागमन में परेशानी होती है। नागरिकों ने कई बार सड़क को लेकर आवाज बुलंद किया परंतु निर्माण नहीं हो सका। कासमा-रफीगंज पथ का निर्माण हुआ है, लेकिन बीच-बीच में जगह छोड़कर सड़क बनाई गई है। यही नहीं रफीगंज बस स्टैंड से करीब एक किलोमीटर तक सड़क का कार्य नहीं किया गया। सड़क गड्ढों में तब्दील हो गयी है। बताया जाता है कि रानी ब्रजराज उच्च प्लस टू विद्यालय, डा. विजय कुमार सिंह महाविद्यालय, कारगिल गैस एजेंसी सहित सरकारी एवं गैर सरकारी कई संस्थान इसी एक किलोमीटर के क्षेत्र में स्थित है। हजारों की संख्या में छात्र-छात्राएं प्रतिदिन इसी रास्ते से स्कूल जाते हैं। डीएवी पब्लिक स्कूल सहित कई विद्यालयों की गाड़ी इसी रूट से होकर आवागमन करती है। बड़े-बड़े गड्ढे जिसमें जमा पानी को देख लोग कांप जाते हैं। इस रूट में छोटे-बड़े हजारों वाहनों का परिचालन होता है। आरबीआर खेल मैदान में आयोजित महात्मा गणिनाथ के उत्सव में आयोजकों द्वारा इस समस्या को सांसद के समक्ष रखा गया था। जिसमें कहा गया था कि इस क्षेत्र में पीसीसी होना है इसके लिए संवेदक को शीघ्र यह कार्य करने के लिए कहा जाएगा,लेकिन आज तक इस पर कोई पहल नहीं हुई। रविद्र सिंह, कारगिल गैस एजेंसी संचालक शिवदयाल गुप्ता, डा. विजय कुमार सिंह महाविद्यालय के प्राचार्य सत्येंद्र नारायण सिंह, रानी ब्रजराज उच्च प्लस टू विद्यालय के प्रधान सहायक अवधेश कुमार सिंह ने सड़क को शीघ्र बनाए जाने की मांग की है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस