औरंगाबाद। देश के लोकतांत्रिक व्यवस्था में मतदान प्रत्येक व्यक्ति का मौलिक अधिकार है। अपने मत का प्रयोग सभी नागरिकों को करना चाहिए। लोकतंत्र में बनने वाली सरकार आपके मतदान पर निर्भर करता है। उपरोक्त बातें सांसद सुशील कुमार सिंह ने रविवार को नेउरा सूरजमल गांव में ग्रामीणों से कही। सांसद ने कहा कि लोकसभा चुनाव के दौरान गांव के द्वारा वोट बहिष्कार गलत निर्णय था। वोट के महत्व को जानिए, साथ ही इसमें निहित अपने महत्व को भी पहचानिए। लोकतंत्र में वोट आपकी ताकत है। मतदान से हीं सुंदर लोकतंत्र का निर्माण होता है जिसमें आपकी सरकार आपके लिए कार्य करती है। व्यक्ति को पांच साल के बाद यह अवसर मिलता है। अगर आप इस अधिकार को खो दिया तो आपको कोई भी सांसद, विधायक या जनप्रतिनिधि नहीं पूछेगा। सांसद के बातों से ग्रामीण काफी प्रभावित होकर जिदाबाद के नारे लगाने लगे। बटाने नदी में बनेगा छलका

ग्रामीण सुदर्शन तिवारी, रामसिंहासन तिवारी एवं ऋषिकेश तिवारी सहित ग्रामीणों ने वोट बहिष्कार करने वाले युवाओं को फटकार लगाया। उन्होंने कहा कि ऐसा सोच कभी नहीं रखना चाहिए जिससे विकास अवरूद्ध होता हो। उन्होंने सांसद से घेउरा बिगहा गांव के सामने बटाने नदी में छलका निर्माण की मांग की। सांसद ने आज सोमवार को विभागीय अधिकारियों के साथ बैठक कर आवश्यक कार्रवाई करने का आश्वासन दिया। दौरान पंचायत के मुखिया सिकंदर यादव ने देवी नेउरा गांव के ग्रामीणों के हस्ताक्षरयुक्त आवेदन सांसद को दिया। बताया कि उक्त गांव के नवसृजित विद्यालय के लिए भूमि है इसके बावजूद भवन निर्माण नहीं कराया गया है। ऐसे में स्कूल को बंद कर सूरजमल नेउरा गांव के स्कूल में शिफ्ट कर दिया गया है। दूरी होने के कारण बच्चे पढ़ने से वंचित हो रहे हैं। सांसद ने इसके लिए संबंधित विभाग को पत्र लिखने की बात कही है। रामविनय शर्मा, ललन सिंह, विदू सिंह, ईश्वरी सिंह, आकाश कुमार सिंह, अमरेंद्र सिंह, चंदन तिवारी, अरविद तिवारी, संजय तिवारी, धर्मेंद्र तिवारी, अरूण तिवारी, विजय तिवारी, शैलेश, बब्लू, दीपक तिवारी, रंजन तिवारी, भदई तिवारी एवं गोलू पाठक समेत सभी ग्रामीण रहे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप