जागरण संवाददाता, औरंगाबाद : सोननगर से पतरातु भाया डालटेनगंज रेलखंड का तीहरीकरण कार्य कराया जा रहा है। इस कार्य में बारुण अंचल के परता एवं खैरा गांव में करीब एक एकड़ जमीन का अधिग्रहण करना है। जमीन का अधिग्रहण करने के लिए गठित सिक्समैन कमेटी के द्वारा बुधवार को निरीक्षण किया गया। एडीएम आशीष कुमार सिन्हा, जिला भूअर्जन पदाधिकारी डीएलओ मनोज कुमार ने सीओ राणा अक्षय कुमार एवं रेल अधिकारियों के साथ अधिग्रहण की जाने वाली जमीन का निरीक्षण किया। जमीन मालिकों से बात की। एडीएम एवं डीलओ ने जमीन मालिकों को बताया कि सरकारी प्रावधान के तहत सिक्समैन कमेटी के द्वारा निर्धारित मुआवजा दर का भुगतान करने के बाद जमीन का अधिग्रहण किया जाएगा। जमीन मालिकों ने आवासीय मकानों को दिखाते हुए मुआवजा के बारे में पूछा। अधिकारियों ने कहा कि इसका मुआवजा आवासीय दर के हिसाब से किया जाएगा। जो मुआवजा मिलेगा वह जमीन मालिकों के हित में होगा। निरीक्षण के बाद डीएलओ ने बताया कि दोनों गांवों में अधिग्रहण की जाने वाली जमीन का स्थल निरीक्षण कर देखा गया है। इस परियोजना में इस जिले में बहुत जमीन का अधिग्रहण नहीं किया जाना है। परियोजना के निर्माण के लिए रेलवे के पास जमीन काफी है। केवल परता एवं खैरा में करीब एक एकड़ जमीन का अधिग्रहण करना है। इसमे कुछ आवासीय मकान भी है। मुआवजा दर का निर्धारण के लिए डीएम के द्वारा एडीएम के नेतृत्व में गठित सिक्समैन कमेटी के द्वारा जमीन का निरीक्षण किया गया है। निरीक्षण के दौरान रेल विकास निगम के परियोजना प्रबंधक एमके सिंह भी मौजूद थे। बता दें कि इस परियोजना के तहत रेल विकास निगम के द्वारा सोननगर पतरातु रेल खंड पर जीटी रोड पर अलग से ओवरब्रीज का निर्माण कराया जा रहा है। हालांकि ओवरब्रीज निर्माण का पैसा एनएचएआइ के द्वारा दिया गया है।

Edited By: Jagran