जदयू नेता सह राज्य पिछड़ा आयोग के पूर्व सदस्य प्रमोद सिंह चंद्रवंशी ने कहा है कि 24 जनवरी को पटना के श्रीकृष्ण मेमोरियल हॉल में जदयू अतिपिछड़ा प्रकोष्ठ द्वारा आयोजित जननायक कर्पूरी ठाकुर जयंती समारोह सफल होगा। इसमें अधिक से अधिक संख्या में लोग शामिल होंगे। ओबरा एवं दाउदनगर प्रखंड के विभिन्न गांवों में ग्रामीणों से संपर्क कर कार्यक्रम में शामिल होने का आह्वान किया गया है। प्रमाद ने कहा कि जननायक ने अपने मुख्यमंत्री काल में समाज के उत्थान के लिए अनेक कार्य किए। वे जीवन भर समता मूलक समाज के निर्माण के लिए लड़ाई लड़ते रहे। वे एक गरीब परिवार में पैदा हुए परंतु अपनी मेहनत व नीतियों के कारण पूरे बिहार ही नहीं बल्कि पूरे देश में दबे-कुचले व असहाय लोगों की आवाज बनकर खड़े हुए। वे कड़ी मेहनत व संघर्ष के बूते मुख्यमंत्री की कुर्सी पर विराजमान हुए। जननायक कर्पूरी ठाकुर को गरीबों का मसीहा बताते हुए कहा कि उन्होंने ही आरक्षण को सबसे पहले लागू किया। उन्होंने 1978 में बिहार में सबसे पहले सरकारी नौकरियों में आरक्षण लागू किया था। जितेंद्र नारायण सिंह, रामानंद चंद्रवंशी, जनेश्वर सिंह, अभय चंद्रवंशी, कमलेश चंद्रवंशी, सुरेश प्रसाद, दशरथ प्रसाद, सत्येंद्र चंद्रवंशी, सुधीर कुमार, पप्पू कुमार उपस्थित रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस