औरंगाबाद। गोह प्रखंड के बंदेया थाना के दधपी गांव में बुधवार को विद्युत करंट से विमलेश ¨सह के 10 वर्षीय पुत्र बादल कुमार एवं 8 वर्षीय पुत्री खुशी कुमारी की मौत हो गई। हादसा उस वक्त हुआ जब बच्चे घर से बाहर खेलने निकले और पहले से गिरे तार की चपेट में आ गए। दो बच्चों की मौत से गांव में कोहराम मच गया। परिजन रोने लगे। बच्चे की मां एवं पिता रोते हुए बेहोश हो गए। जब होश आता अपने बच्चे को खोजने लगते। मां की रुलाई देख ग्रामीण भी रो पड़ते। ग्रामीण विद्युत विभाग के अधिकारियों पर लापरवाही बरतने का आरोप लगा रहे थे। कह रहे थे कि जर्जर तार होने के कारण हादसा हुआ है। सूचना पर पूर्व विधायक डा. रणविजय कुमार घटनास्थल पर पहुंचे। पीड़ित परिजनों को सांत्वना दिया। कहा कि दुख के इस घड़ी में धैर्य रखें। हम सभी आपके साथ हैं। पंचायत के मुखिया अशोक ¨बद ने परिजनों से मुलाकात कर आर्थिक सहायता दी। कहा कि सरकार से जो भी राशि मिलता है उसे पूर्व विधायक के सहयोग से दिलाया जाएगा। थानाध्यक्ष क्रांति रमन ने दोनों बच्चों के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए औरंगाबाद भेज दिया। पुलिस ने पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया है। बता दें कि इस वर्ष विद्युत करंट से हर माह दो से चार लोगों की मौत हो रही है।

Posted By: Jagran