जागरण संवाददाता, औरंगाबाद : मुफस्सिल थाना क्षेत्र के शहर से सटे एक गांव के पास मोबाइल टावर के कंट्रोल रूम में ट्यूशन पढ़ाने वाली शिक्षिका के साथ जबरन किए गए दुष्कर्म की घटना के बाद गुरुवार को पीड़ित शिक्षिका का बयान कोर्ट में कराया गया। महिला थानाध्यक्ष कुमकुम कुमारी ने पीड़ित शिक्षिका को लेकर कोर्ट पहुंचीं और बयान करवाया। पीड़ित शिक्षिका ने घटना का समर्थन किया है। जिसके बच्चे को पढ़ाती थी उसके पिता चंदन कुमार सिंह के द्वारा घटना को अंजाम दिए जाने का बयान दिया है।

थानाध्यक्ष ने बताया कि बयान कराने के बाद पीड़ित शिक्षिका को उसके परिवार को सौंप दिया गया है। आरोपित चंदन घटना के बाद फरार हो गया है। उसने अपना मोबाइल बंद कर दिया है। घटना के बाद उसके पत्नी को थाना लाया गया था पर गुरुवार को छोड़ दिया गया है। कारण कि पत्नी इस मामले में आरोपित नहीं है। बताया गया कि चंदन की गिरफ्तारी के लिए महिला थाना के अलावा नगर और मुफस्सिल थाना की पुलिस गुरुवार को कई जगहों पर छापेमारी की पर चंदन पकड़ा नहीं गया है। फरार रहने के कारण पुलिस उसके खिलाफ जल्द ही कोर्ट से वारंट लेगी और कुर्की जब्ती की कार्रवाई करेगी। 

बता दें कि चंदन ने मंगलवार रात करीब 9.30 बजे इस घटना को अंजाम दिया है। महिला अपने परिवार के भरण पोषण को लेकर उसके घर के अलावा अन्य बच्चों के घर में रोजाना ट्यूशन पढ़ाने जाती थी। रात को चंदन के घर से ट्यूशन पढ़ाकर अपना घर लौट रही थी कि गांव से बाहर निकलने पर पकड़ लिया और जबरन पास के एक मोबाइल टावर स्थित कंट्रोल रूम में ले गया। धमकी देते हुए कहा कि शोर मचाने पर गला दबाकर हत्या कर देंगे। उसके बाद चंदन ने महिला के साथ दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया। घर लौटकर शिक्षिका ने पति को आपबीती सुनाई और घटना की प्राथमिकी कराई। बताया गया कि घटना के समय चंदन शराब के नशे में था।

Edited By: Prashant Kumar Pandey

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट