औरंगाबाद। प्रखंड सह अंचल कार्यालय का हाल बेहाल है। कर्मी कार्यालय में नहीं रहते हैं। हालात यह है कि कर्मियों के न रहने के कारण जनता का कार्य प्रभावित होता है। डीएम राहुल रंजन महिवाल ने गुरुवार को प्रखंड सह अंचल कार्यालय एवं परिसर स्थित अन्य कार्यालयों का निरीक्षण किया। डीएम के साथ एसडीओ अनीस अख्तर उपस्थित रहे। निरीक्षण के दौरान 19 कर्मी अनुपस्थित पाए गए। सभी से स्पष्टीकरण मांगी जाएगी। जो कर्मचारी छुट्टी में नहीं है उनका वेतन काटा जाएगा। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिया कि सभी कर्मी समय से कार्यालय पहुंचे। जनता से मिलकर उनकी समस्या का समाधान निकालें ताकि जिला और अनुमंडल स्तर पर प्रखंड का शिकायत नहीं पहुंच सके। कार्य अच्छा होगा तो 90 प्रतिशत समस्याओं का निपटारा किया जा सकता है। समस्या चाहे शिक्षा की हो पेयजल स्वास्थ्य पेंशन आंगनबाड़ी मनरेगा कृषि पीडीएस सहित कई समस्याएं शामिल है। जनप्रतिनिधियों ने डीएम से शिकायत करते हुए कहा कि बीडीसी की बैठक में 60 प्रतिशत अधिकारी अनुपस्थित रहते हैं। प्रखंड में आवेदन लंबित है जिसका निपटारा नहीं हो पाता है। ओडीएफ में प्रगति नहीं है। आइसीडीएस में पोषाहार वितरण एवं नियुक्ति की शिकायत की जांच कराई जाएगी। मनरेगा में मशीन से कार्य नहीं होगा। कागज पर मजदूरों को उपस्थिति दिखा कर भुगतान नहीं होगा। मजदूरों द्वारा इसकी शिकायत मिलने पर संबंधित कर्मचारी पर प्राथमिकी दर्ज की जाएगी। उन्होंने प्रखंड में सात निश्चय योजना के कार्यों में रफ्तार नहीं होने की बात करते हुए खेद व्यक्त किया। कराये गए कार्य पर उन्होंने कहा कि गुणवत्तापूर्ण कार्य नही है। कार्य से संतुष्ट नहीं दिखे। कहा कि सभी कार्यों को नियमानुसार जांच कराई जाएगी। जरूरत पड़ी तो ब्लॉक स्तरीय बैठक की जाएगी। मनरेगा, कस्तूरबा, सीआरसी एवं एमडीएम के कार्य से डीएम संतुष्ट नहीं दिखे। डीएम ने कस्तूरबा विद्यालय का निरीक्षण करते वक्त वार्डन संगीता कुमारी संचालक नागेश्वर प्रसाद अनुपस्थित मिले। निरीक्षण के दौरान 97 बच्चों में मात्र 64 बच्चें उपस्थित पाए गए।बच्चों को खाना गैस चूल्हे की जगह कोयला पर बनाया जा रहा था, बच्चों को सोने के लिए चारपाई टूटा देखकर डीएम भड़क गए एवं जांच का निर्देश दिया। प्रमुख प्रतिनिधि रंजीत कुमार ने एमडीएम प्रभारी संजय ¨सह को कभी भी कार्यालय में उपस्थित नहीं रहने की शिकायत की। उपप्रमुख प्रतिनिधि मुन्ना ¨सह ने आंगनबाड़ी केंद्रों में समय से पोषाहार का वितरण नहीं होने की शिकायत की, बीसी वन में होने वाले दर्जनों बहाली स्थगित कर दी गई है। बहाली में अनियमितता की शिकायत डीएम से की गई। विधायक प्रतिनिधि सुनील शर्मा ने पेमा गांव के नाई टोला में विधायक कोटे से गाड़े गए चापाकल से पानी नहीं निकलने की शिकायत की, इधर ग्राम मुंड़वा के विजय कुमार ने गांव में पानी की समस्या, जैतिया गांव के इस्लाम खान ने इंदिरा आवास का पैसा भुगतान नहीं होने, बुधई गांव के ¨बदेश्वर पासवान ने वृद्धा पेंशन के भुगतान नहीं होने, हमीदनगर गांव के राजेश कुमार ने राशन कार्ड नहीं उपलब्ध कराने की शिकायत डीएम के समक्ष की। वही ग्रामीणों को डीएम ने उपस्थित लोगों से शौचालय निर्माण में सहयोग करने की अपील की। आंगनबाड़ी में अनियमितता की शिकायत पर सभी सीडीपीओ के साथ समीक्षा बैठक करने की बात कहते हुए हर समस्या को जांच कराकर समाधान कराने का आश्वासन दिया। डीएम के निरीक्षण के दौरान बीडीओ संजय पाठक छुट्टी पर थे। अवधेश कुमार नेपाली प्रशिक्षण में गए हुए थे। इधर डीएम के औचक निरीक्षण होने से प्रखंड सहित प्रखंड स्तरीय सभी सरकारी कार्यालयों में हड़कंप रहा। बता दें कि डीएम प्रखंड सह अंचल कार्यालय का लगातार निरीक्षण कर रहे हैं।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस