अरवल: मोदी जी बोले हैं कि बच्चा और बुढ़ा को घर से बाहर नहीं निकलना है। मास्क लगाकर रहना है और हाथ धोना है। गांव में नन्हें बच्चे कुछ इसी अंदाज में कोरोना और लॉकडाउन के बारे में बातें करते हैं। ऐसे ही माहौल में इस बार आजादी का जश्न लॉकडाउन के बीच बच्चे मनाएंगे।

कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के लिए 16 अगस्त तक लॉकडाउन प्रभावी रहेगा। 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस के मौके पर पहली बार स्कूलों में बच्चे नहीं जा सकेंगे।

स्वतंत्रता दिवस पर बच्चों की प्रभातफेरी और स्कूलों में झंडोत्तोलन के साथ जलेबी का इंतजार रहता था। पहला मौका होगा जब बच्चे घर में रहेंगे। बच्चों के साथ अभिभावक भी स्कूल के कार्यक्रम में शामिल होते थे। स्कूल में पहली बार दाखिला लेने वाले तो जान भी नहीं सकेंगे कि झंडोत्तोलन कैसे होता है।

-- क्या कहते हैं बच्चे

मेरे लिए स्कूल में पहला स्वतंत्रता दिवस था। लॉकडाउन है न, इसलिए स्कूल में कोई कार्यक्रम नहीं होगा। कोई बात नहीं अगले साल तो झंडोत्तोलन में भाग लेंगे। मेरा दोस्त भी स्कूल नहीं जाएगा। घर में ही राष्ट्रगान सुनाएंगे।

आदित्य शौर्य

फोटो-36 पापा बोले कि कोरोना वायरस के कारण स्कूल बंद है। स्वतंत्रता दिवस पर घर में ही रहना है। बाजार से झंडा मंगाकर छत पर फहरा लेंगे। पापा-मम्मी को झंडा के लिए बोल दिए हैं।

अनमोल कुमार

फोटो-35 मेरा नया दोस्त है वह भी स्कूल नहीं जा रहा है। मोहल्ले में कई दोस्त हैं जिनके साथ राष्ट्रगान गाएंगे। तिरंगा फहराएंगे। स्कूल में कार्यक्रम नहीं होगा। मोदी जी बोले हैं कि बच्चा और बुढ़ा को घर से नहीं निकलना है।

प्रिस राज

फोटो-34

पिछले साल स्वतंत्रता दिवस पर विद्यालय में आयोजित कार्यक्रमों में पापा लेट पहुंची थी। इस बार तो लॉकडाउन है तो घर में मनायेंगे तो मम्मी-पापा का बहाना भी नहीं चलेगा।

कोमल कुमारी

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस