अररिया। पल्स पोलियो अभियान की तर्ज पर कोरोना संदिग्धों की तलाश के लिए विदेशों व अन्य राज्यों से आए लोगों को चिन्हित करने गांव मे सर्वे का काम लगातार चल रहा है। जिसमे सभी परिवार के सदस्यो की विगत दस दिनो की मेडिकल स्थिति की जानकारी ली गई है।एक निश्चित अवधि मे इस सर्वे कार्य को आशा, आंगनबाड़ी सेविका ने बखुबी अंजाम दिया है।पर्यवेक्षण का काम एएनएम, आशा फेसिलेटर ने किया। पांच दिन हुए सर्वे मे चिन्हित टोले गांव के 6700घरों में 35129 लोगों से जानकारी एकत्र की गई। बीएचएम संदीप कुमार ने बताया कि कोरोना को लेकर सिकटी प्रखंड के चिन्हित 32 गांवों में जहां नेपाली एवं विदेशी लोग आए हैं वहां प्रखंड स्तर से उसी गांव में आशा एवम् सेविका का टीम घर घर जाकर सर्वे कर रही है। उनके घर में जो लोग बाहर से आए हैं उनको कोई दिक्कत तो नहीं है उनका पिछले दस दिनों का मेडिकल हिस्ट्री पूछते हैं बुखार के साथ उनको सर्दी या सांस लेने में परेशानी के बारे में पूछती है एवं फॉर्मेट अनुसार रिपोर्ट करती है। इस मेडिकल सर्वे मे शुक्रवार को 319,शनिवार को 1159,रविवार को 1517 सोमवार को 1920 घरों मे पाचों दिन मिलाकर कुल 6700 घरों में कुल आज तक कुल 35129 लोगों का सर्वे किया गया है जिनमें बुखार के साथ खांसी या सांस लेने में परेशानी की जानकारी ली गई है।

Edited By: Jagran