संवाद सूत्र, फारबिसगंज (अररिया): फारबिसगंज शहर में मंगलवार को डीएम के निर्देश पर गठित टीम के द्वारा दवा दुकानों का जांच की गई। टीम में शामिल डिप्टी कलेक्टर दिलीप कुमार, असिस्टेंट ड्रैग कंट्रोलर उपेंद्र नारायण पंडित, पुलिस इंस्पेक्टर प्रदुमन सिंह के साथ बड़ी संख्या में पुलिस पदाधिकारियों ने शहर के विभिन्न दवा दुकानों में पहुंचकर जांच पड़ताल की। ड्रग विभाग व पदाधिकारियों की इस अभियान से शहर के दवा दुकानों में हड़कंप मचा रहा। मौके पर डअसिस्टेंट ड्रग कंट्रोलर ने कहा कि बिहार सरकार व डीएम के निर्देश पर कोरोना काल मे औषधि की जमाखोरी, कालाबाजारी, ब्लैक मार्केटिग एवं अधिक दाम पर दवा बेचने की शिकायत साथ ही कोरोना काल में आम लोगों को उचित मूल्य में दवा उपलब्ध हो इसको लेकर यह छापेमारी अभियान चलाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि ऐके मेडिकल में छापेमारी की गई। जिसमें कैसमेमो अपडेट नहीं पाया गया है। उन्होंने बताया कि साथ ही जितनी दफा कोराना में प्रस्तावित है और सप्लाई किया जाना है उनको छोड़कर सभी दवा वहां उपलब्ध पाया गया है। वहीं डिप्टी कलेक्टर ने कहा कि डीएम साहब का स्पष्ट निर्देश है कि दवाओं की उपलब्धता सुनिश्चित रहे। साथ ही मार्केट में सरकार के द्वारा कुछ दवा का लिस्ट दिया गया है वह उपलब्ध है या नही और उचित मूल्य पर इसे बेचा जा रहा है कि नहीं यह भी देखा जा रहा है। उन्होंने कहा कि जांच के उपरांत प्रतिदिन रिपोर्ट पटना वरीय पदाधिकारी को भेजी जा रही है। उन्होंने कहा कि यह अभियान निरंतर जारी रहेगा शहर के सभी दुकानों की जांच की जाएगी।