संसू, सिकटी (अररिया): सीमा की सुरक्षा एसएसबी व पुलिस प्रशासन के सहयोग से हो रही है। लेकिन कोरोना से सुरक्षा हेतु सीमा पर कोई व्यवस्था नहीं दिख रही है। जबकि नेपाल-भारत की खुली सीमा से प्रतिदिन लोगों की आवाजाही है। सीमावर्ती प्रखंड क्षेत्र के सोनामनी गोदाम से आमबारी तक लगभग 38 किमी की नेपाल की सीमा लगती है। इसके बावजूद जांच की कोई भी व्यवस्था नही है। बार्डर पर प्रतिदिन हजारों की संख्या में लोगों की आवाजाही होती है।

----------

---

सीमा सुरक्षा पर पैनी नजर: सीमा की सुरक्षा में तैनात कई जवानों ने बताया कि सीमा से आनेजाने वाले लोगों के लिए कोरोना जांच की कोई व्यवस्था नहीं की गई है। सुरक्षा को लेकर वे पूरी तरह से अलर्ट रहते हैं। एक-एक व्यक्ति पर पैनी नजर रखी जाती है। सुरक्षा जांच के बाद ही आनेजाने की अनुमति दी जा रही है। नेपाल की तरफ से भी सुरक्षा जांच की व्यवस्था है। नेपाल या भारत सरकार की तरफ से बार्डर को बंद करने को लेकर कोई आदेश नहीं है। लोग आसानी से नेपाल बार्डर पार कर आ जा रहे हैं। ऐसे में खुली सीमा के रास्ते कोरोना संक्रमण का बड़ा खतरा है।

---दूसरी लहर में थी सख्ती ---दूसरी लहर में कोरोना को लेकर बार्डर पर काफी सख्ती रही, लेकिन तीसरी लहर में जांच तक नहीं है। कितने लोग तो बिना मास्क लगाए भारतीय सीमा में प्रवेश भी कर जाते हैं। यदि ऐसी लापरवाही रही तो कोरोना विस्फोट की घटना होना तय है। ओमिक्रोन के दस्तक के बीच भारत-नेपाल की खुली सीमा से लोगों का आना जाना सामान्य दिनों की तरह ही है। अपने क्षेत्र की बात करें तो नेपाल से भारत आने के लिए सिकटी, पहाड़ा, आमगाछी, बौका मजरख, मेघा, लैलौखर, डुमरिया, डुब्बाटोला सहित पगडंडियों के कई रास्ते शामिल है। इन रास्तों पर एसएसबी 52वीं बटालियन के जवानों की निगेहबानी है।

-----

---

लापरवाही पड़ सकती है भारी

-- लापरवाही का आलम यह है कि नेपाल से भारत आने वाले बिना मास्क के ही आ जा रहे हैं। 90 प्रतिशत यात्रियों के चेहरे पर मास्क तक नहीं दिख रहा है और यह लापरवाही भारी पड़ सकती है।

------

--क्या कहते हैं जिम्मेदार-

एसएसबी 52वीं बटालियन के कमांडेट वीके वर्मा ने बताया कि लोगों से कोरोना को लेकर एहतियात बरतने की अपील की जा रही है। लोगों की जागरूक हेतु कई कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे है। मास्क और शारीरिक दूरी आवश्यक है। कोरोना को लेकर हमारे जवान अलर्ट हैं। वहीं बीडीओ राकेश कुमार ठाकुर ने बताया कि सीमा को लेकर कोई विभागीय निर्देश नही है। लगातार मास्क जांच अभियान चलाया जा रहा है। लोगों का सहयोग अपेक्षित है।

Edited By: Jagran