संवाद सूत्र, करजाईन बाजार(सुपौल): चैती नवरात्र शनिवार से आरंभ हो रहा है। आज से भक्त शक्ति स्वरूपा की आराधना में लीन हो जाएंगे। आज से मां दुर्गा के विभिन्न रूपों की विधि-विधान से पूजन होगी। नवरात्र को लेकर क्षेत्र के रतनपुर पुरानी बा•ार, सितुहर, समदा गढ़ी आदि जगहों पर स्थित माता के मंदिरों की रौनक बढ़ गई है। समदा गढ़ी स्थित माता के मंदिर में प्रतिमा बनाकर पूजा-अर्चना की जाती है। साथ ही कलश स्थापन के दिन कलश यात्रा भी निकाली जाती है। श्रद्धालुओं ने भी पूजा की तैयारी लगभग पूरी कर ली है। घरों की साफ-सफाई भी हो चुकी है।

---------------------

प्रतिपदा में करें कलश स्थापना

नवरात्र में कलश स्थापना का विशेष महत्व है। मूहूर्त के अनुसार कलश स्थापना से मनोवांछित फलों की प्राप्ति होती है। आचार्य पंडित धर्मेंद्रनाथ मिश्र ने बताया कि चैती अर्थात वासंतिक नवरात्र में शनिवार को प्रात: काल 8 बजे से लेकर 1 बजे तक कलश स्थापना मुहूर्त अति शुभ माना गया है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस