नई दिल्ली (ऑटो डेस्क)। देश की दिग्गज मोटरसाइकिल निर्माता कंपनी रॉयल एनफील्ड घरेलू बाजार के साथ ही विदेशी बाजारों में अच्छा प्रदर्शन कर रही है। ऐसे में कंपनी ब्रैंड को और मजबूत करने और मार्केट डेवेलपमेंट तेज करने के लि‍ए अब साउथ एशिया के इंडोनेशिया, थाईलैंड और वियतनाम में प्लांट लगाने जा रही है। बता दें कि विश्व स्तर पर रॉयल एनफील्ड की 350cc - 650cc मोटरसाइकिलों की करीब 20 लाख यूनिट्स की इंडस्ट्री है।

आयशर मोटर लि‍. के एमडी और सीईओ सि‍द्धार्थ लाल ने कहा, "इंडोनेशिया और थाईलैंड के प्लांट के लिए हम बेहद उत्साही हैं। हमने यहां के बाजारों में रॉयल एनफील्ड बाइक के प्रति काफी अच्छा क्रेज देखा है जिसके चलते यहां हम कंपनी की अच्छी ग्रोथ देखने की उम्मीद करते हैं। हमारे पास वहां बाजार कंपनियों के साथ हमारे काम कर रहे कर्मचारी भी हैं, जहां वितरण हमारे द्वारा किया जाएगा और इसके डीलर स्थानीय ही होंगे। स्थानीय स्तर पर असेंबली का हम विचार कर रहे हैं लेकिन हम दूसरे विकल्पों पर भी ध्यान दे रहे हैं।

रॉयल एनफील्ड के निर्यात की बात करें तो मौजूदा समय में कंपनी की कुल बिक्री में 2.3 फीसद या फिर कहें 20,000 यूनिट्स का निर्यात किया है, जो कि पिछले वर्ष की सालाना बिक्री में कुल बेची गईं 8.2 लाख यूनिट्स का हिस्सा हैं। कंपनी का निर्यात लगातार बढ़ता ही जा रहा है। पिछले साल कंपनी का निर्यात 25 फीसद बढ़ा था। इसके अलावा कंपनी अपने तमि‍लनाडु में स्थित चेन्‍नई के पास वल्‍लम वडगल प्‍लांट में मैन्युफैक्चरिंग क्षमता बढ़ाने के लिए 800 करोड़ रुपये निवेश करने का फैसला किया है। कंपनी अपने इस फैसले से अगले वित्त वर्ष के मध्य से अतिरिक्त 3.5 लाख यूनिट्स की मैन्युफैक्चरिंग क्षमता बढ़ाने की योजना बना रही है।

भारत में रॉयल एनफील्ड के अगले बड़े दो लॉन्च होने जा रहे हैं, जिनमें इंटरसेप्टर 650 और कांटिनेंटल जीटी 650 शामिल हैं। बता दें कि ऐसा पहली बार होगा कि रॉयल एनफील्ड अपनी मोटरसाइकिल्स को पैरेलेल-ट्विन इंजन के साथ भारतीय बाजार में उतारेगी।

By Ankit Dubey