नई दिल्ली, ऑटो डेस्क। General Motors ने बुधवार को Fiat Chrysler और इसके पूर्व अधिकारियों के खिलाफ संघीय रैकेटियरिंग (एक्सटॉर्शन) मुकदमा दायर किया है। General Motors की तरफ से लगाए गए आरोप में Fiat Chrysler की तरफ से United Auto Workers के अधिकारियों को रिश्वत देने की बात कही गई है। जनरल मोटर्स की तरफ से कहा गया है कि लेबर नेगोशिएशन्स को अपने पक्ष में करने के लिए ऐसा किया गया है। Detroit के अमेरिकी जिला अदालत में बुधवार को यह मुकदमा दायर किया गया है। इसमें Fiat Chrysler पर रैकेटियरिंग का आरोप लगाते हुए कहा गया है कि तीन लेबर समझौतों में रियायत पाने और लाभ हासिल करने के लिए लाखों डॉलर का भुगतान किया गया है।

मुकदमा में आरोप लगाया गया है कि General Motors के खिलाफ बढ़त पाने के लिए Fiat Chrysler ने साल 2009, 2011 और 2015 में UAE के साथ सौदेबाजी की प्रक्रिया में यूनियन कॉन्ट्रैक्ट्स में धांधली की है। इस पूरे मामले पर General Motors ने अपने ट्विटर अकाउंट पर एक ट्वीट भी किया है।

General Motors के मुख्य वकील (चीफ काउंसलर) क्रेग ग्लिस्ड ने आरोप लगाते हुए कहा है कि Fiat Chrysler के चीफ एग्जिक्यूटिव सर्जियो मार्चियोने, जिनकी मौत पिछले साल हो गई थी, इस साजिश में एक "केंद्रीय व्यक्ति" था। क्रेग ग्लिस्ड की तरफ से कहा गया है कि सर्जियो मार्चियोने को इसलिए डिजाइन किया गया था ताकी वो Fiat Chrysler के खिलाफ General Motors को नुकसान पहुंचा सके।

Posted By: Shridhar Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस