नई दिल्ली (ऑटो डेस्क)। इन दिनों भारतीय ग्राहकों में कॉम्पैक्ट एसयूवी की मांग तेजी से बढ़ रही है। इस सेगमेंट में अलग-अलग कंपनियों की दमदार गाड़ियां उपलब्ध हैं। हुंडई क्रेटा इस सेगमेंट में सबसे ज्यादा बिकने वाली एसयूवी है। बाजार में इसका मुकाबला रेनो कैप्चर से है। आज हम इन दोनों गाड़ियों की डायमेंशन और केबिन स्पेस की तुलना करने जा रहे हैं। जानिये कौन किस पर भारी रहा-

हुंडई क्रेटा और रेनो कैप्चर

हुंंडई क्रेटा की डायमेंशन की बात की जाए तो इसकी लंबाई 4270 mm, चौड़ाई 1780 mm और ऊचाई 1630 mm है। इसका व्हीलबेस 2590 mm और ग्राउंड क्लियरेंस 190 mm है। वहीं कैप्चर की लंबाई 4329 mm, चौड़ाई 1813 mm और ऊंचाई 1619 mm है। इसका व्हीलबेस 2673 mm और ग्राउंड क्लियरेंस 210 mm है। यहां अधिकतर मामलों में रेनो कैप्चर अपनी कंपीटिटर हुंडई क्रेटा पर भारी पड़ती है।

हुंडई क्रेटा का फ्रंट हैडरूम 920 mm-980 mm, फ्रंट लैगरूम 925 mm- 1120 mm, फ्रंट नी रूम 610 mm - 840 mm है। इस मामले में कैप्चर ने बाजी मारी है। कैप्चर में फ्रंट हैडरूम 940 mm- 990 mm, फ्रंट लैगरूम 945 mm- 1085 mm और फ्रंट नी रूम 540 mm- 730 mm है।

रियर केबिन की चौड़ाई के मामले में हुंडई क्रेटा बाजी मार ले जाती है। हुंडई क्रेटा का केबिन 1400 mm है, जबकि कैप्चर का केबिन 1355 mm है। हुंडई क्रेटा में रियर हैडरूम 980 mm, शोल्डर रूम 1250 mm, नी रूम 615 mm- 920 mm है। क्रेटा का बूट स्पेस 402 लीटर है। इस मामले में कैप्चर की बात की जाए तो इसमें 945 mm का हैडरूम, शोल्डर रूम 1280 mm, नी रूम 640 mm - 850 mm है। इसका बूट स्पेस 392 लीटर है।

कुछ दिन पहले लॉन्च हुआ क्रेटा का फेसलिफ्ट अवतार

हुंडई ने मई में भारत में क्रेटा का फेसलिफ्ट अवतार लॉन्च कर दिया है। हुंडई ने SX+ ट्रिम को हटा दिया है और SX (O) को नए टॉप वेरिएंट रेंज में शामिल किया है, जिसमें 1.6 लीटर पेट्रोल और डीजल इंजन दिया गया है। 1.4 लीटर डीजल क्रेटा के E+ और S ट्रिम्स में दिया गया है।

रेनो कैप्चर पेट्रोल और डीजल दोनों वेरिएंट में उपलब्ध है। इसमें 1.5 लीटर पेट्रोल इंजन लगा है जो 104 bhp का पावर और 142 Nm का टॉर्क जनरेट करता है। इसमें 6-स्पीड मैनुअल ट्रांसमिशन दिया गया है। वहीं 1.5 डीजल इंजन 108 bhp की पावर और 260 Nm का टॉर्क जनरेट करता है।

By Bani Kalra