नई दिल्ली, ऑटो डेस्क। आज के समय में हर कोई भीड़-भाड़ वाली जगह से बचना चाहता है और अपनी पर्सनल कार से चलना चाहता है। पहली बार कार खरीदने वालों के लिए ये काम की खबर है। आप कौन सी कार खरीदें और कौन सी नहीं, इस बात का पता लगा पाना आसान नहीं होता है कि हम अपने घर कौन सी कार लाएं। लेकिन निवेश करने से पहले हमें सभी बातों पर ध्यान देना चाहिए, क्योंकि कार बार-बार खरीदने वाली चीज नहीं है। तो आइए जानिए कि कार खरीदने के पहले आपको किन-किन बातों का ध्यान रखना चाहिए।

डीजल या पेट्रोल, कौन सी कार है बेहतर?

डीजल कारें पेट्रोल कारों की तुलना में एक लाख महंगी होती हैं। कैल्कुलेशन के हिसाब से देखा जाए, तो 90 फीसदी टाइम पेट्रोल कार खरीदना ही बेहतर होता है। हालांकि लोगों का झुकाव अब इलेक्ट्रिक कारों की तरफ हो रहा है, लेकिन अभी भी ईवी चार्जिंग स्टेशन हर जगह उपलब्ध नहीं है।

कार के लिए कितना होगा बजट ?

कार खरीदने के लिए आपका बजट कितना है यानी कि आप किसी कार को खरीदने के लिए कितना पैसा खर्च करना चाहते हैं, क्योंकि कार खरीदते वक्त सिर्फ इस बात का ध्यान नहीं रखना होता कि कार की कीमत कितनी है, बल्कि इस बात का भी ध्यान रखना होता है कि कार का माइलेज कितना होगा। इसके अलावा उस पर लगने वाला रोड टैक्स, इंश्योरेंस का भी ध्यान रखना होगा।

कार का मॉडल क्या होगा?

जब एक बार आपने अपना बजट निर्धारित कर लिया तो उसके बाद इस बात का फैसला लेना होता है कि कौन से मॉडल की कार खरीदनी है। कारें चार तरह की बॉडी टाइप-हैचबैक, सेडान, एसयूवी और एमपीवी में आती है। इसके अलावा इसकी सब-कैटैगरीज भी होती हैं। 

क्या होगी कार की रीसेल वैल्यू?

कार खरीदते वक्त इस बात का भी ध्यान रखना चाहिए कि उसकी रीसेल वैल्यू कितनी है। कार लोगों के लिए एक बड़ा इन्वेस्टमेंट है लेकिन बीतते सालों के साथ इसकी वैल्यू कम होती जाती है। हमें इस बात का भी ध्यान रखना होगा कि जब भी हमारा कार बदलने का मौका हो तो हमें बड़ा नुकसान न हो।

करिए अपने कार की पूरी रिसर्च

आपको जब ये पता हो गया है कि कौन सी कार लेनी है और कितने पैसे खर्च करने हैं, तो इसके बारे में पूरी रिसर्च करें। वैसे तो ऑनलाइन किसी कार के बारे में जानकारी इकट्ठा करने का तरीका अच्छा है, लेकिन इसके बावजूद आप शोरूम पर जाकर सारी बातें पता करें और हो सके तो एक टेस्ट ड्राइव भी लें। 

Edited By: Sarveshwar Pathak