अदब की जुबान उर्दू में मोहब्बत बरसती है

Publish Date:Sun, 17 Sep 2017 11:15 PM (IST) | Updated Date:Sun, 17 Sep 2017 11:15 PM (IST)
अदब की जुबान उर्दू में मोहब्बत बरसती हैअदब की जुबान उर्दू में मोहब्बत बरसती है
जगदीशपुर : उर्दू अदब की जुबान है इसको बचाने के लिए युवा आगे आयें। उक्त बातें अल्नुर स्कूल में उ

जगदीशपुर : उर्दू अदब की जुबान है इसको बचाने के लिए युवा आगे आयें। उक्त बातें अल्नुर स्कूल में उर्दू जुबान पर आयोजित सेमिनार को संबोधित करते हुए मुख्य अतिथि मौलाना आजाद यूनिवर्सिटी जोधपुर राजस्थान के वाइस चासलर प्रोफेसर अख्तरुल ने कही।

प्रोफेसर अख्तरुल ने कहा कि उर्दू जुबान अदब सम्मान की जबान है। हिंदी के बाद दूसरी देश की भाषा उर्दू ही है। आज उर्दू स्कूलों से दूर हो रही है। यानि जुबान से दूर हो रही है जो स्थान हिंदी व उर्दू का होना चाहिए वह आग्ल भाषा ले रही है। इसे जिम्मेदार के अलावा युवाओं के सोचने का विषय है। उर्दू के बगैर शायर के बोल समाप्त हो जाएंगे।

सैयद सलमान अशरफ ने कहा कि उर्दू को बढ़ावा के लिए सरकार को भी कदम बढ़ाना होगा। इस मौके पर विद्यालय प्रबंधक मौलाना जुबेर मुजफ्फ र हुसैन आदि ने भी संबोधित किया। इस मौके पर मदरसा के बच्चों ने कई कार्यक्रम प्रस्तुत किया।

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:majlis(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

यह भी देखें