'दक्ष' न मिले तो नौकरी से धोएंगे हाथ

Publish Date:Sun, 17 Sep 2017 11:10 PM (IST) | Updated Date:Sun, 17 Sep 2017 11:10 PM (IST)
'दक्ष' न मिले तो नौकरी से धोएंगे हाथ'दक्ष' न मिले तो नौकरी से धोएंगे हाथ
स लतानपुर : खंड प्रेरकों के नौकरी की राह में मुश्किलें बढ़ गई हैं। फर्जी रिपोर्टिंग से

स लतानपुर : खंड प्रेरकों के नौकरी की राह में मुश्किलें बढ़ गई हैं। फर्जी रिपोर्टिंग से सूबे में जिले की साख गिरने पर एक खंड प्रेरक को तो बर्खास्त किया जा चुका है। बाकी 13 खंड प्रेरकों की दक्षता का परीक्षण कराने की कवायद शुरू हो गई है। योग्यता साबित न कर पाए तो प्रेरकों को नौकरी से हाथ धोना पड़ सकता है।

पंचायतराज विभाग में केंद्र व राज्य सरकार की शीर्ष वरीयता वाले स्वच्छता कार्यक्रम के क्रियांवयन के लिए ब्लाकवार प्रेरकों की तैनाती की गई है। इन प्रेरकों में कई ने गत महीनों से कार्य में बेहद लापरवाही बरती है। जिससे सुलतानपुर की रैंक में गिरावट आ गई। इसमें सुधार भी नहीं हुआ था कि गत दिनों मंडलीय कार्यशाला में दूबेपुर के खंड प्रेरक संजय ¨सह ने फर्जी आंकड़े प्रस्तुत कर दिए। इसका खुलासा होने पर जिले की साख पर बट्टा लगा। इसे मुख्य विकास अधिकारी रामयज्ञ मिश्र ने गंभीरता से लिया और उनके निर्देश पर दूबेपुर के प्रेरक की सेवा समाप्त कर दी गई। उधर, इस कार्रवाई से अन्य प्रेरकों की धड़कनें बढ़ गई हैं। इस बीच प्रभारी जिला पंचायत राज अधिकारी शिवाकांत द्विवेदी ने सेवा प्रदाता कंपनी को लिखापढ़ी कर दूबेपुर में नए खंड प्रेरक की नियुक्ति का कोरम पूरा करने का निर्देश दिया है। साथ ही विभाग को दूबेपुर के इतर 13 ब्लाकों के प्रेरकों की दक्षता का परीक्षण कराने की प्रक्रिया शुरू करा दी है।

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:litmus test(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

यह भी देखें